जम्मू कश्मीर: पहली बार पथराव करने वालों के खिलाफ सरकार ने उठाया ये कदम, मिलेगी नई जिंदगी

img

जम्मू: जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने पहली बार पथराव करने में संलिप्त रहे युवाओं के खिलाफ मामले वापस लेने की आज घोषणा की. महबूबा ने ट्वीट कर कहा कि यह इन युवा लड़कों और उनके परिवार के लिए आशा की एक किरण है. केंद्र के विशेष प्रतिनिधि दिनेश्वर शर्मा के सुझाव पर विचार करते हुए यह फैसला लिया गया.

It gives me immense satisfaction to restart the process of withdrawing FIRs against first time offenders of stone pelting. My government had initiated the process in May, 2016 but it was unfortunately stalled due to the unrest later that year.— Mehbooba Mufti (@MehboobaMufti) November 22, 2017

केंद्र सरकार ने आईबी के पूर्व निदेशक दिनेश्वर शर्मा को जम्मू-कश्मीर के सभी पक्षों से बातचीत करने के लिए अपना प्रतिनिधि बनाया है. सरकार की इस घोषणा के बाद शर्मा ने कहा, 'आशा है कि मैं सरकार के विश्वास पर खरा उतरुंगा और लोगों की उम्मीदों को पूरा कर पाऊंगा.

It is a ray of hope for these young boys and their families. This initiative will provide them an opportunity to rebuild their lives.

— Mehbooba Mufti (@MehboobaMufti) November 22, 2017

कौन हैं दिनेश्वर शर्मा?
दिनेश्वर शर्मा भारतीय पुलिस सेवा के 1979 बैच के अवकाश प्राप्त अधिकारी हैं. शर्मा ने दिसंबर 2014 से 2016 के बीच गुप्तचर ब्यूरो के निदेशक के रूप में अपनी सेवाएं दीं.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement