स्मृति ईरानी ने ‘महाराजा’ वाली टिप्पणी के लिए थरूर पर साधा निशाना

img

नई दिल्ली: केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर बनी फिल्म ‘पद्मावती’ को लेकर जारी विवाद पर कांग्रेस नेता शशि थरूर की ‘महाराजा’ वाली टिप्पणी को लेकर उन पर निशाना साधा है। थरूर ने वीरवार को कहा था कि ‘कथित शूरवीर महाराजा’ उस वक्त कहां थे जब ब्रिटेन ने उनके सम्मान को रौंद डाला था और अब वे एक फिल्मकार के पीछे पड़े हुये हैं और दावा कर रहे हैं कि उनका सम्मान दांव पर लग गया है। 
स्मृति ने ट्वीट कर कहा कि क्या सभी महाराजाओं ने ब्रिटिश के आगे घुटने टेक दिये थे? शशि थरूर की टिप्पणियों पर ज्योतिरादित्य सिंधिया, दिग्गी राजा (दिग्विजय सिंह) और अमरिंदर सिंह क्या कहेंगे? बता दें कि यह सभी राज घरानों से ताल्लुक रखते हैं। हालांकि थरूर ने अपने बयान पर सफाई देते हुए ट्वीट किया था कि मैं इससे निराश हूं कि भाजपा के कुछ समर्थक दावा कर रहे हैं कि मैंने राजपूत सम्मान पर हमला किया... मैं उन महाराजाओं के बारे में बोल रहा हूं जिन्होंने ब्रिटिश के साथ समझौता किया। मैंने अपने जीवन में कभी भी कोई सांप्रदायिक टिप्पणी नहीं की है। 

1/2 कुछ भाजपाई अंधभक्तों द्वारा साज़िशन झूठा प्रचार किया जा रहा है कि मैंने राजपूत समाज के सम्मान के ख़िलाफ़ टिप्पणी की हैI मैंने राष्ट्र हित में अंग्रेज़ हकूमत के कार्यकाल का विरोध करते हुए ऊन राजाओं की चर्चा की थी जो स्वतंत्रता संग्राम में अंग्रेज़ के साथ थे।

— Shashi Tharoor (@ShashiTharoor) November 16, 2017

2/2 मैं यह भी निर्भीक होकर कहूँगा की भारत की विविधता व समरस्ता के मध्यनज़र राजपूत समाज की भावनाओ का आदर किया जाना सबका कर्तव्य है। राजपूतों की बहादुरी हमारे इतिहास का हिस्सा है व ईस पर कोई प्रश्न नहीं उठा सकता। भाजपा व उसके सेन्सर बोर्ड को ईन भावनाओ का सम्मान करना चाहिए।

— Shashi Tharoor (@ShashiTharoor) November 16, 2017


राजपूत समुदाय की विशेष चिंताओं पर थरूर ने कहा कि भारत की विविधता और सछ्वाव के हित में लोगों की भावनाओं का जरूर सम्मान किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि राजपूतों का शौर्य हमारे इतिहास का हिस्सा है और इस पर सवाल नहीं किया जा सकता। भाजपा और उसके द्वारा लगायी जाने वाली रोक टोक में इन चिंताओं का ध्यान रखा जाना चाहिए। संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ में कथित तौर पर ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ को लेकर कुछ संगठन प्रदर्शन कर रहे हैं। 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement