प्रद्युम्‍न की मां ने कहा, मैं आरोपी से मिलकर जानना चाहती हूं कि उसने मेरे बेटे को क्‍यों मारा

img

नई दिल्‍ली: सात वर्षीय प्रद्युम्‍न मर्डर केस में सीबीआई के खुलासे के बाद प्रद्युम्‍न की मां ने कहा है कि वह 11वीं में पढ़ने वाले आरोपी छात्र से मिलकर यह जानना चाहती हैं कि आखिर उनके बेटे को उसने क्‍यों मारा? दरअसल इस मामले में सीबीआई ने बुधवार को चौंकाने वाला खुलासा करते हुए कहा कि प्रद्युम्‍न का मर्डर आरोपी बस कंडक्‍टर अशोक कुमार ने नहीं बल्कि गुरुग्राम के रायन इंटरनेशनल स्‍कूल के 11वीं के छात्र ने किया. 

सीबीआई की जांच पर भरोसा जताते हुए प्रद्युम्‍न के पिता ने कहा कि उनको पहले से ही बस कंडक्‍टर को इस मामले में पकड़े जाने को लेकर संदेह था. इसलिए ही उन्‍होंने सीबीआई जांच की मांग की थी और अब उसके नतीजों से वह संतुष्‍ट हैं. 16 वर्षीय आरोपी छात्र के बारे में उन्‍होंने कहा कि उसके खिलाफ बालिग के रूप में केस चलाया जाना चाहिए. उनके मुताबिक आपराधिक दिमाग ही इस तरह की घटना को अंजाम दे सकता है.

पिता ने कहा, "कहीं न कहीं सीबीआई ने जो बताया है, वह एक संभावित वजह हो सकती है. सीबीआई ने अगर बच्चे को निकाला है तो उसके पास जरूर प्रूफ होगा. हमें सीबीआई पर भरोसा था". वहीं, मां सुषमा ठाकुर ने कहा कि आगे क्या आता है, देखना होगा. जांच जारी है. अभी तक जो आया है उससे लोगों को जरूर इससे तसल्ली हुई है. लोगो को जो उम्मीद थी, उस पर सीबीआई कहीं न कहीं खरी उतरी है. हम तो यही जानना चाहते थे कि वास्तविक हत्यारा कौन है और उद्देश्य क्या था. हमें पुलिस की थ्योरी शुरू से ही हजम नहीं हो रही थी. तभी हम सीबीआई जांच की मांग कर रहे थे. 

इसके साथ ही सीबीआई हिरासत में लिए गए ग्यारहवीं कक्षा के छात्र को अपने मुख्‍यालय लेकर पहुंची. यहां आरोपी छात्र से जांच एजेंसी घटना के बाबत पूछताछ की जा रही है. जांच एजेंसी आरोपी छात्र से शाम पांच बजे तक पूछताछ करेगी. कहा जा रहा है कि सीबीआई अभियुक्‍त को गुड़गांव स्थित घटनास्‍थल पर भी ले जा सकती है. कल जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने आरोपी को 3 दिन की सीबीआई रिमांड में भेजने के आदेश दिए थे. 

इससे पहले, सीबीआई ने बुधवार को दावा किया था कि आरोपी छात्र ने परीक्षा रद्द कराने के लिए मर्डर किया. यह छात्र अभिभावक-छात्र मीटिंग (PTM) की तारीख भी आगे बढ़वाना चाहता था. यह छात्र चाकू लेकर उस दिन स्‍कूल गया था. प्रद्युम्‍न की हत्‍या के बाद आरोपी ने चाकू को फ्लश कर दिया था. सीबीआई के मुताबिक यह हत्‍या पूर्व नियोजित नहीं थी, लेकिन यह छात्र कुछ ऐसा करना चाहता था ताकि परीक्षा की तारीखें आगे खिसक जाएं. छात्र ने कहा भी था कि कुछ ऐसा करूंगा कि परीक्षा ही नहीं होगी. इसीलिए प्रद्युम्‍न जैसे ही टॉयलेट में दिखा, उसकी हत्‍या कर दी गई. सीबीआई ने यह भी स्‍पष्‍ट किया है कि आरोपी कंडक्‍टर के खिलाफ सबूत नहीं मिले हैं.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement