रेल टेंडर घोटाला में तेजस्‍वी को फिर ED का नोटिस, राबड़ी को भी बुलावा

img

नयी दिल्ली। रेलवे होटलों के आबंटन में भ्रष्टाचार के मामले में अपनी धनशोधन जांच के सिलसिले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने राजद नेता लालू प्रसाद के पुत्र तेजस्वी यादव को 13 नवंबर को पेश होने के लिये कहा है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि 31 अक्तूबर को पेशी के संबंध में बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री को इसी तरह का सम्मन भेजा गया था, जिसमें वह पेश नहीं हुए थे।उन्होंने बताया कि अब एजेंसी ने पेशी के लिये 13 नवंबर की नई तारीख तय की है। जांच एजेंसी ने धन शोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत कुछ समय पहले लालू प्रसाद, उनके परिवार के सदस्यों एवं अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

ईडी ने मामले में पूछताछ के संबंध में तेजस्वी की मां एवं बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को भी सात नवंबर को उसके समक्ष पेश होने के लिये कहा है। इससे पहले ईडी मामले के संबंध में तेजस्वी से करीब नौ घंटे तक पूछताछ कर चुकी है। बहरहाल एजेंसी ने बाद में उन्हें चार बार सम्मन भेजा लेकिन हर बार वह पेश नहीं हुए। राबड़ी देवी भी कम से कम पांच बार ईडी के भेजे सम्मन पर पेश नहीं हुईं। जुलाई में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने एक प्राथमिकी दर्ज की थी और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद एवं अन्य की संपत्तियों पर कई बार तलाशी ली थी।

सीबीआई की प्राथमिकी में आरोप है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रेम चंद गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता के स्वामित्व वाली ‘बेनामी’ कंपनी से रिश्वत के तौर पर पटना में अहम जगह की जमीन लेने के बाद वर्ष 2004 में लालू प्रसाद ने बतौर रेल मंत्री अपने कार्यकाल के दौरान इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) की दो होटलों की रख रखाव का जिम्मा उसी कंपनी को दिया था। ईडी ने सीबीआई की प्राथमिकी के आधार पर पीएमएलए के तहत उनके परिवार के सदस्यों एवं अन्य के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया था।

सीबीआई ने मामले के संबंध में हाल में तेजस्वी और लालू प्रसाद के बयान भी दर्ज किये थे। अधिकारी के अनुसार कथित शेल कंपनियों के माध्यम से आरोपियों के कथित तौर पर ‘‘गलत तरीके से धन जुटाने’’ के सिलसिले में ईडी जांच कर रही है। सीबीआई की प्राथमिकी में दर्ज अन्य नामों में विजय कोचर, विनय कोचर (दोनों सुजाता होटल के निदेशक), डिलाइट मार्केटिंग कंपनी (अब लारा प्रोजेक्ट्स के नाम से) और तत्कालीन आईआरसीटीसी के प्रबंध निदेशक पी के गोयल शामिल हैं।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement