सीएम योगी मॉरीशस दौरे के लिए रवाना, प्रवासी भारतीयों के निवेश पर होगी नजर

img

लखनऊ : अप्रवासी भारतीयों को उत्तर प्रदेश में निवेश के लिए आकर्षित करने के मकसद से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को मॉरीशस रवाना हो गए. सीएम के साथ केंद्रीय मंत्री गिरीराज सिंह भी दौरे पर हैं. इस दौरे के दौरान वह राज्य में निवेश की तमाम संभावनाओं को पेश करेंगे. 

सूचना विभाग के प्रमुख सचिव अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी अपनी तीन दिवसीय मॉरीशस यात्रा के लिए सुबह मुंबई से पोर्ट लुई रवाना होंगे. अपने इस दौरे के दौरान वह प्रवासी भारतीय दिवस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के इस कार्यक्रम का मकसद प्रवासी भारतीयों को उत्तर प्रदेश में निवेश के लिये आकर्षित करना और उनके सामने सरकार की योजनाओं को प्रस्तुत करना है.

UP Chief Minister Yogi Adityanath leaves on a three-day visit to Mauritius pic.twitter.com/j03LLTv4cN

— ANI UP (@ANINewsUP) November 1, 2017

योगी के साथ मॉरीशस जा रहे अवस्थी ने बताया कि अपनी यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री अप्रवासी भारतीयों से मुलाकात करेंगे. इस दौरान वह राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में निवेश की संभावनाओं को विस्तार से सामने रखेंगे. उन्होंने कहा कि प्रदेश में निवेश की अपार संभावनाएं हैं. प्रदेश का मूलभूत ढांचा बेहतर है और पुरानी व्यवस्था में परिवर्तन लाए जाने की वजह से स्थितियां निवेश के बिल्कुल अनुकूल बन गई हैं.

उल्लेखनीय है कि भारत मॉरीशस का सबसे बड़ा व्यापारिक साझीदार है और वर्ष 2007 से वह मॉरीशस को सामान तथा सेवाओं का निर्यात कर रहा है.

योगी का मॉरीशस दौरा हाल में अमेरिका की विभिन्न कम्पनियों के 20 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के बाद हो रहा है. इस बैठक में भी योगी ने इन कंपनियों से उत्तर प्रदेश में निवेश का आग्रह करते हुए राज्य सरकार से हर संभव सहायता का आश्वासन दिया था.

अवस्थी ने बताया कि ऐसी संभावना है कि योगी अगले साल मार्च में लखनऊ में आयोजित होने वाले एनआरआई दिवस में भारतीय मूल के उद्योगपतियों को आमंत्रित भी करेंगे.

उत्तर प्रदेश पिछले दो वर्षों से प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन कर रहा है. इसका मकसद प्रदेश से प्रवासी भारतीयों को जोड़ना और सूबे के विकास में उनका योगदान प्राप्त करना है. अवस्थी ने बताया कि सरकार का विचार है कि लखनऊ में उत्तर प्रदेश में अपनी जड़े रखने वाले प्रवासी भारतीयों को लेकर एक कार्यक्रम आयोजित किया जाए. जैसा कि प्रदेश की नई औद्योगिक नीति में घोषणा की गई है कि राज्य सरकार प्रदेश के औद्योगिक तथा व्यापारिक उन्नति के लिए निवेश करने वाले प्रवासी भारतीयों को हर संभव मदद देगी.

उन्होंने बताया कि यह कार्यकम ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के साथ आयोजित होगा, जिसमें प्रवासी भारतीयों को राष्ट्रीय तथा अन्तरराष्ट्रीय बिजनेस लीडर्स से मुलाकात का मौका मिलेगा.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement