SC ने सैनिटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन के लिए दिए पांच लाख रुपये

img

नयी दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने अपने परिसर में तीन सैनिटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन लगाने और इस्तेमाल किए गए पैड का निपटान करने के लिए तीन भस्मक (इन्सिनरेटर) लगाने के लिए पांच लाख रुपये आवंटित किए हैं। वकील नंदिनी गोरे ने उच्चतम न्यायालय आने वाली महिलाओं की परेशानी का जिक्र किया था जिसके बाद उच्चतम न्यायालय ने ये निर्देश दिए।

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के नेतृत्व वाली पीठ ने शीर्ष न्यायालय की रजिस्ट्री को उसके पास जमा 1.4 करोड़ रुपये से धनराशि आवंटित करने के लिए कहा। गुरुग्राम स्थित दो चिकित्सकों ने यह धनराशि जमा कराई थी। उन्हें हरियाणा के फरार पूर्व विधायक को शरण देने के लिए अवमानना का दोषी ठहराया गया था। पीठ में न्यायमूर्ति ए एम खानविल्कर और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड भी शामिल थे।

पीठ ने उच्चतम न्यायालय बार संघ (एससीबीए) को उसके जरुरतमंद वकीलों को चिकित्सा सहायता देने के लिए 85 लाख रुपये भी आवंटित किए। न्यायालय ने उच्चतम न्यायालय एडवोकेट-ऑन-रिकॉर्ड एसोसिएशन (एससीएओआरए) को एडवोकेट्स-ऑन-रिकॉर्ड (एओआर) की चिकित्सा सहायता देने के लिए 45 लाख रुपये भी आवंटित किए।

Similar Post