छह लाख रुपये के जाली नोट के साथ दो गिरफ्तार

img

नयी दिल्ली। जाली भारतीय नोटों के एक अंतरराष्ट्रीय गिरोह से कथित तौर पर जुड़े दो सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया। उनके पास से दो हजार रुपये के नोटों में छह लाख रुपे मूल्य के फर्जी नोट जब्त किये गए। दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा को इस बात की सूचना मिली कि भारत-बांग्लादेश सीमा के जरिये फर्जी नोट को मालदा पहुंचाया जा रहा है।

पुलिस ने बताया कि मालदा से नोट को देशभर में मौजूद गिरोह के सदस्यों तक पहुंचाया जाता था। पिछले महीने की 29 तारीख को इस बात की सूचना मिली की गिरोह का प्रमुख सदस्य दिल्ली के खरीदार को जाली नोटों का एक बड़ा पार्सल डिलिवर करने के लिए शांतिवन चौक आएगा। पुलिस ने बताया कि सूचना के आधार पर जाल बिछाया गया और जहीरुद्दीन (52) नामक व्यक्ति वहां पहुंचा और खरीदार का इंतजार करने लगा।

उन्होंने बताया कि किसी के नहीं पहुंचने पर वह जाने ही वाला था कि उसे पकड़ लिया गया। उसके पास से साढ़े पांच लाख रुपये मूल्य के जाली नोट जब्त किये गए। पुलिस के अनुसार गिरोह के एक अन्य सदस्य क्रांति चौधरी (35) को 50,000 रुपये के जाली नोट के साथ कल गिरफ्तार कर लिया गया। बिहार के बेतिया से गिरफ्तार किये गए चौधरी ने इस बात का खुलासा किया कि वह पश्चिम बंगाल के मालदा जिले के एक सप्लायर से जाली नोट खरीदता था।

Similar Post