नीतीश ने जदयू की बैठक में क्यों कर दी अपनी मौत की बात?

img

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गत रविवार को जनता दल युनाइटेड की राज्य कार्यकारी समिति की बैठक में यह कह कर सभी को चौंका दिया था कि ''यदि मैं कल मर जाऊँ तो पार्टी का क्या होगा।'' उन्होंने कहा था कि कौन जानता है कल क्या होगा। जब उनसे पूछा गया कि उन्होंने क्यों 'मौत' शब्द का इस्तेमाल किया तो उन्होंने सफाई देते हुए कहा था कि ''अरे ऐसे ही मुँह से निकल गया था कुछ खास नहीं है।''

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का कहना है कि नीतीश कुमार के बयान में दर्द झलक रहा था क्योंकि उन्होंने पार्टी को खड़ा करने के लिए काफी मेहनत की है और हाल ही में राजग के साथ आने को लेकर कुछ वरिष्ठ नेताओं की ओर से जो विवाद पैदा किया गया उससे वह खुश नहीं हैं। नीतीश के बयान को पार्टी को एकजुट रखने के लिए एक भावनात्मक कदम भी माना जा रहा है।

बैठक में नीतीश ने यह भी साफ किया था कि वह राज्य में शराब पर प्रतिबंध का फैसला किसी कीमत पर वापस नहीं लेंगे। उन्होंने कहा था, ''जब तक मैं जिंदा हूँ तब तक इसे वापस नहीं लेने जा रहा हूँ।''

Similar Post