तमिलनाडु में ब्लू व्हेल से 1 की मौत, अात्महत्या से पहले लड़के ने बताया गेम का सच

img

चेन्नईः मौत का खेल यानी ब्लू व्हेल गेम ने दुनियाभर में न जाने कितने बच्चों की जान ले ली है। भारत में भी कुछ बच्चों ने इस गेम के चलते अात्महत्या कर ली है। ताजा मामला तमिलनाडु का है। इस आॅनलाइन गेम से मदुरई में 19 वर्षीय कॉलेज छात्र विग्नेश की मौत हो गई।

पुलिस के मुताबिक, बी.कॉम के द्वितीय वर्ष के छात्र विग्नेश ने बुधवार शाम को आत्महत्या कर ली। विग्नेश के पिता को उसका शव पंखे से झूलता मिला। विग्नेश के हाथ पर ब्लू व्हेल की तस्वीर बनी हुई थी, जिससे संदेह है कि इस गेम की वजह से ही विग्नेश ने आत्महत्या की है।

विग्नेश के घर से एक नोट भी बरामद हुआ है, जिसमें लिखा है, ‘‘ब्लू व्हेल गेम नहीं है बल्कि एक खतरा है, इस गेम को शुरू करने के बाद आप इससे बच नहीं सकते।’’ इस गेम ने देश और दुनिया में कई लोगों को मार दिया है। 

दरअसल यह सोशल मीडिया से ही आया है। बताया जा रहा है कि एक ग्रुप है जो लोगों को सुसाइड करने के लिए उकसा रहा है। यह ग्रुप सोशल मीडिया पर ज्यादा ऐक्टिव रहता है। इंस्टाग्राम पर भी इससे जुड़े पोस्ट तेजी से वायरल हो रहे हैं। इस ग्रुप का ग्रुप अपने मेंबर्स को रोजाना टास्क देता है जिसे 50 दिन में पूरा करना होता है।

ये टास्क काफी खतरनाक और जानलेवा होते हैं। इनमें खुद को नुकसान पहुंचाना, किसी ऐसे समय घूमना जो काफी अजीब हैं या हॉरर फिल्में देखने जैसे टास्क शामिल हैं। टास्क के 50वें दिन पूरे होने पर इस गेम के पीछे के लोग युवकों को सुसाइड करने को कहते हैं। इतना ही नहीं उन्हें सुसाइड करने के तरीकों के बारे में भी बाताया जाता है।

Similar Post