बस सेवा बंद होने से फंसे 116 पीओके निवासी अपने घरों के लिए रवाना

img

जम्मू। नियंत्रण रेखा के दोनों ओर आने जाने वाली पुंछ-रावलकोट एलओसी-पार बस सेवा बंद होने के कारण एक महीने से अधिक समय तक यहां फंसे रहे, पाक अधिकृत कश्मीर के 116 निवासी आज पुंछ से बारामूला स्थित कमान क्रासिंग प्वाइंट के लिए रवाना हो गए जहां से वह अपने घर जाएंगे। एलओसी ट्रेड पुंछ के व्यापार सुगमता अधिकारी (टीएफओ) मोहम्मद तनवीर ने बताया कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में फंसे तीन भारतीय भी आज वापस लौट आएंगे। उन्होंने बताया कि कश्मीर को देश के शेष हिस्से से जोड़ने वाली मुगल रोड के जरिए कई बसों में सवार होकर पीओके यात्री सुबह करीब पांच बजे रवाना हुये।

बारामूला जिले के उरी सेक्टर में कमान पोस्ट तक यात्रियों को छोड़ने के लिए गए कुछ अधिकारियों में से एक तनवीर ने बताया कि पीओके यात्री रविवार को पुंछ के खेल स्टेडियम पहुंचे और रात को ठहरने के लिए उन्हें सरकारी सुविधा मुहैया कराई गई। यह लोग पीओके को उरी के साथ जोड़ने वाले ‘अमन सेतु’ के जरिए अपने पैतृक आवास जाएंगे। उन्होंने बताया कि बारामूला जिला प्रशासन को सूचना दे दी गयी है और सीमापार जाने वाले, पीओके के मेहमानों के लिए आवश्यक प्रबंध करने का आग्रह भी किया गया।

पाकिस्तान की तरफ से भारी गोलीबारी और गोलाबारी के कारण 10 जुलाई से पुंछ-रावलकोट रोड पर बस सेवा बंद कर दी गई थी जबकि एलओसी-पार साप्ताहिक बस सेवा ‘कारवां-ए-अमन’ श्रीनगर-मुजफ्फराबाद मार्ग पर लगातार चल रही है। कमान क्रासिंग पर आठ अगस्त को पाकिस्तान की ओर से हुई गोलीबारी की वजह से एक भारतीय जवान शहीद हो गया था। पाकिस्तान ने एक बार फिर 12 अगस्त को बिना उकसावे के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर अंधाधुंध गोलीबारी की जिसमें एक जूनियर कमीशंड ऑफिसर (जेसीओ) और एक महिला की मौत हो गयी थी।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement