चीन को सबक सिखाने के लिए राष्ट्रपति और आर्मी चीफ का नया प्लान

img

पिछले दिनों लद्दाख में भरतीय सेना और चीन के सैनिक आमने सामने हो गए थे। डोकलाम मुद्दे पर चल रहा दोनों देशों के बीच यह शीत युद्ध किसी भी समय क्रूर रुप ले सकता है। वहीं भारत चीन की हर गतिविधि पर नजर बनाए हुए है। वहीं अब इन हालातों का जायजा लेने के लिए भारत के नव निर्वाचित राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और आर्मी चीफ बिपिन रावत लेह-लद्दाख का दौरा करेंगे।21 अगस्त को राष्ट्रपति लद्दाख में होंगे और यह दौरा तीन दिन का होगा। 

बिपिन रावत इस दौरे में ताजा हालात की जानकारी ले सकते हैं, वहीं टॉप कमांडर के साथ रणनीति पर भी काम कर सकते हैं। वहीं राष्ट्रपति कोविंद का दौरा सिर्फ एक दिन का ही होगा। कोविंद वहां पर कई तरह के कार्यक्रम में भाग लेंगे। राष्ट्रपति बनने के बाद रामनाथ कोविंद की यह पहली यात्रा होगी।

आपको बता दें कि पिछले लगभग दो महीने से डोकलाम के मुद्दे पर भारत और चीन आमने-सामने हैं लेकिन भारत और चीन की सेनाओं के बीच मंगलवार को पेंगोंग झील के पास टकराव की स्थिति आ गई थी। गतिरोध लगभग आधे घंटे तक चला और फिर दोनों पक्ष वापस चले गए। घुसपैठ की कोशिश में नाकाम होते देख चीनी सैनिकों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी थी।

वहीं दूसरी तरफ चीन ने इस तरह के किसी भी घुसपैठ की जानकारी होने से इनकार किया था।चीन ने कहा था कि वह अपनी सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं।  

Similar Post