दीपा ने जया के आवास को स्मारक में बदलने की योजना का किया विरोध

img

चेन्नई। तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री जे जयललिता की भतीजी जे दीपा ने यहां स्थित अपनी बुआ के आवास को स्मारक में बदलने की तमिलनाडु सरकार की योजनाओं का विरोध करते हुए कहा कि वह इसके खिलाफ कानूनी कदम उठाएंगी। मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने गुरुवार को घोषणा की थी कि उनकी सरकार जयललिता के निधन संबंधी जांच के लिए एक जांच आयोग नियुक्त करेगी और उनके ‘वेदा निलायम’ आवास को स्मारक में बदलेगी।

दीपा ने कहा कि पोएस गार्डन सम्पत्ति पर दावा करना उनका ‘‘नैतिक एवं कानूनी अधिकार’’ है और उन्होंने मुख्यमंत्री की इस घोषणा को ‘‘नाटक’’ करार देते हुए आरोप लगाया कि इसके पीछे कोई और मकसद है। दीपा ने गुरुवार को यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘इसे (आवास को) स्मारक में बदलने को लेकर हमसे कोई विचार विमर्श नहीं किया गया। हम इसके (सरकारी की योजनाओं) खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।’’

दीपा ने अपनी बुआ के निधन के कुछ महीनों बाद राजनीति में कदम रखा था और जयललिता की जयंती पर 24 फरवरी को एमजीआर अम्मा दीपा पेरावई की शुरूआत की थी। दीपा ने आरके नगर विधानसभा सीट के लिए 12 अप्रैल को होने वाले उपचुनाव के लिए अपना नामांकन भरा था। इस सीट का प्रतिनिधित्व पहले जयललिता करती थीं। बाद में, निर्वाचन आयोग ने धन बल के कथित इस्तेमाल को लेकर इस उपचुनाव को रद्द कर दिया था।

Similar Post