स्वास्थ्य मंत्रालय ने अस्पतालों से कहा- स्टेंट्स संबंधी अधिसूचना का पालन करें

img

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी निजी एवं सरकारी अस्पतालों से कहा है कि वे स्टेंट्स का अधिकतम मूल्य निर्धारित करने के संबंध में फरवरी में जारी मंत्रालय की अधिसूचना का पालन करें। जम्मू कश्मीर उच्च न्यायालय ने आठ मई को स्वास्थ्य मंत्रालय से इसके संबंध में सभी अस्पतालों को अधिसूचना के पालन करने के लिये स्पष्ट परिपत्र जाने का आदेश दिया था, जिसके बाद मंत्रालय ने यह निर्देश जारी किये हैं।

उल्लेखनीय है कि सरकार ने 13 फरवरी को जीवन रक्षक कोरोनरी स्टेंट्स की कीमतों में 85 फीसद तक की कटौती कर दी थी। धातु से बने इस छोटे से स्टेंट्स को संकुचित कोरोनरी धमनियों में डाला जाता है। मंत्रालय की ओर से जारी निर्देश सभी राज्यों के प्रधान/स्वास्थ्य सचिवों को भेजे गये हैं। सरकार ने उन्हें ‘‘13 फरवरी को नेशनल फार्मास्यूटिकल्स प्राइसिंग अथॉरिटी, फार्मास्यूटिकल्स विभाग, एवं रसायन और उर्वरक मंत्रालय की ओर से जारी अधिसूचना की शर्तों का पालन करने और स्टेंट्स के मूल्य पर लागू अधिकतम सीमा का पालन करें।’’

अधिसूचना के मुताबिक सरकार ने धातु से बने स्टंट्स की कीमतें 7,260 रुपये प्रति इकाई पर निर्धारित करने और दवा युक्त स्टेंट्स का मूल्य 29,600 रुपये प्रति इकाई रखने का निर्देश दिया है। कोरोनरी स्टेंट ट्यूब के आकार का एक उपकरण है, जिसे कोरोनरी हृदय रोगों के उपचार के दौरान रक्त को हृदय तक पहुंचाने वाली धमनियों में लिया जाता है।

Similar Post