विधानपरिषद सदस्यों को आये ईडी के नाम पर धन उगाही के फर्जी फोन

img

लखनऊ। विधान परिषद सदस्यों को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के नाम पर फर्जी फोन कर आय से अधिक सम्पत्ति की जांच की सूचना देने और जांच के नाम पर पैसों की मांग का मामला आज परिषद में उठा। सदन में विजय यादव ने इसपर लिखित सवाल उठाया लेकिन, बाद में सदन के कई सदस्य खड़े हो गये और उन्होंने सदन को सूचित किया कि उनके पास भी ऐसे फर्जी फोन आये हैं जिनमें प्रवर्तन निदेशालय की जांच रूकवा देने के नाम पर पैसों की मांग की गयी।

यादव ने अपने प्रश्न में पूछा कि उन्होंने मुख्य गृह-सचिव को अपने मोबाइल नंबर पर फर्जी तरीके से धन उगाही का फोन आने संबंधी पत्र भेजा था क्या वह मिला? यदि मिला तो उस पर क्या जांच हुई? इस पर नेता सदन दिनेश शर्मा ने जवाब दिया कि सदस्य की ओर से मुख्य गृह सचिव को भेजे गये पत्र में कहा गया था कि उनके मोबाइल फोन पर 11 अप्रैल 2017 को केन्द्रीय सचिवालय नयी दिल्ली में कार्यरत एस.पी. यादव के फोन से कथित रूप से कॉल आया था। फोन पर उनके खिलाफ ईडी द्वारा की जा रही आय से अधिक संपति के मामले की जानकारी देते हुए, इसे बंद करवाने के बाबत धन मांगा गया। ‘‘इस मामले में जांच कराई जा रही है और सरकार दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करेगी।’’

इस पर परिषद के वरिष्ठ सदस्य ओम प्रकाश शर्मा समेत कई सदस्य सदन में खड़े हो गये और उन्होंने भी ऐसे फोन कॉल आने की शिकायत की। नेता सदन शर्मा ने कहा कि जिन सदस्यों के पास ऐसे फर्जी फोन कॉल आये हैं पुलिस में मुकदमा दर्ज करावाएं। मामला गंभीर है और सरकार दोषियों का पता लगाकर कड़ी कार्यवाही करेगी।

Similar Post