सांप्रदायिक हिंसा रोकने के लिए ममता बनाएंगी 'शांतिरक्षक बल'

img

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में फैली सांप्रदायिक हिंसा से निपटने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बूथ स्तर पर शांतिरक्षक बलों का गठन करने का फैसला लिया है. उन्‍होंने इस बात की घोषणा बुधवार को की। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि राज्य प्रशासन और पुलिस शांतिरक्षक बलों की सहायता करेंगे.

ममता बनर्जी ने कहा है कि 24 परगना जिले के बदुरिया में स्थिति अब सामान्य है. उन्होंने बीजेपी पर राज्य में सांप्रदायिक उन्माद फैलाने का आरोप भी लगाया. दूसरी ओर राजभवन और बीजेपी ममता बनर्जी के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद किए हुए हैं. बुधवार को राज्यपाल की ओर से जारी बयान में कहा गया कि ममता बनर्जी के आरोप राज्यपाल और उनके दफ्तर की बेइज्जती और अपमान करने के समान है.

राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने भी कहा कि यह बेहतर होगा कि राज्यपाल पर आरोप लगाने के बजाय ममता और उनके सहयोगी कानून एवं व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए काम करें. वहीं, बीजेपी ने ममता सरकार को बर्खास्त कर राज्य में राष्ट्रपति शासन की मांग की है. इससे पहले पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने पश्चिम बंगाल के वर्तमान हालात को लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह से फोन पर बात की है.

माना जा रहा है कि राज्यपाल ने पश्चिम बंगाल में हो रही हिंसा पर गृह मंत्री को विस्तृत जानकारी दी है. गौरतलब है कि फेसबुक पर एक आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर पश्चिम बंगाल के उत्तरी 24 परगना जिले में सांप्रदायिक हिंसा बढ़ गई है, जिसके बाद केंद्र ने बुधवार को 400 अर्धसैनिक बलों के जवानों को वहां भेजा है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोलकाता में कहा कि आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर जिले के बशीरहाट सब डिवीजन इलाके में दो समुदायों के सदस्यों के बीच झड़पें हुई हैं. लेकिन बीजेपी ने ममता बनर्जी पर आरोप लगाते हुए कहा है कि उत्तरी 24 परगना में मुस्लिम समुदाय के 2000 लोगों ने हिंदू परिवारों पर हमला कर दिया है.

Similar Post