आज रात जारी होगी डीयू की दूसरी कटऑफ

img

नई दिल्ली : दिल्‍ली यूनिवर्सिटी की दूसरी कटऑफ (DU Second cutoff) आज देर रात जारी की जाएगी. दूसरी कटऑफ के बेस पर शनिवार से दाखिला प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. सूत्रों के अनुसार 
दूसरी कटऑफ में अधिकतम 1.5 फीसदी तक गिरावट दर्ज की जा सकती है. पहली कटऑफ के आधार पर करीब 14 हजार छात्र दाखिले ले चुके हैं.

अब डीयू की स्नातक की बची हुई 42 हजार सीटों पर दाखिले का मुकाबला होगा. डीयू के विभिन्‍न कॉलेजों में कुल 56 हजार सीटें हैं. कई कॉलेजों के कुछ पाठ्यक्रमों में पहली कटऑफ के बाद ही पूरी सीटें भर चुकी हैं. डीयू ने 23 जून को पहली कटऑफ जारी की थी, जिसके आधार पर दाखिला प्रक्रिया बुधवार को खत्म हो गई.

डीयू के शीर्ष कॉलेजों में सामान्य वर्ग के छात्रों की कटऑफ लगभग 0.25 से एक फीसदी तक कम होने की संभावना है. वहीं, आरक्षित वर्ग के छात्रों के लिए कटऑफ 1.5 फीसदी तक कम हो सकती है. लेडी श्रीराम में सामान्य वर्ग के लिए दरवाजे बंद: लेडी श्रीराम कॉलेज के अधिकतर पाठ्यक्रमों में सामान्य वर्ग की सीटों पर दाखिले हो गए हैं.

मनोविज्ञान, पत्रकारिता और अंग्रेजी ऑनर्स ही ऐसे पाठ्यक्रम हैं जहां सामान्य श्रेणी के छात्रों के लिए भी दूसरी कटऑफ सूची जारी की जाएगी. अर¨बदो में 0.25 से 1.5 फीसदी तक कटऑफ कम होने का अनुमान है. कॉलेज के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, सामान्य वर्ग की कटऑफ 0.5 फीसदी तक जबकि आरक्षित वर्ग की अधिकतम 1.5 फीसदी कम होगी. अरबिंदो में राजनीतिक विज्ञान और बीएससी लाइफ साइंस में सामान्य श्रेणी में सीटें फुल हो गई हैं.

दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेजों में साइंस के पाठ्यक्रमों की कटऑफ कला और कॉमर्स के पाठ्यक्रमों के मुकाबले अधिक गिरने की संभावना है. विश्वविद्यालय सूत्रों के मुताबिक, विज्ञान के कई पाठ्यक्रमों में कई कॉलेजों में दूसरी कटऑफ 2 फीसदी तक कम होगी. पहली कटऑफ के बाद कॉलेजों में विज्ञान के पाठ्यक्रमों में कम दाखिले हुए हैं.

साइंस की दूसरी कटऑफ अधिक कम होने की एक और वजह यह हो सकती है कि 23 आईआईटी और 31 एनआईटी में दाखिले की काउंसिल करने वाली संस्था ज्वाइंट सीट अलोकेशन अथॉरिटी (जोसा) ने सीट देने की पहली सूची जारी कर दी है. डीयू में आवेदन करने वाले कई छात्र आईआईटी और एनआईटी में दाखिला ले सकते हैं. रामजस कॉलेज में सभी पाठ्यक्रमों के लिए दूसरी कटऑफ जारी होगी. कॉलेज में अंग्रेजी ऑनर्स की कटऑफ में काफी गिरावट आ सकती है. पहली कटऑफ के बाद अंग्रेजी की 62 सीटों में से सिर्फ 15 सीटें भरी जा सकी हैं.

Similar Post