उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने शुरू की मुखबिर योजना

img

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में घटते लिंगानुपात पर असरदार ढंग से रोक लगाने के उद्देश्य से योगी आदित्यनाथ सरकार ने मुखबिर योजना  की शुरूआत की, जिसके तहत बेटियों को जन्म लेने से रोकने वालों पर कडी कार्रवाई की प्रावधान है.


इस योजना के तहत ऐसे व्यक्तियों और संस्थाओं के विरद्ध कार्वाई करके उन्हें कानून के शिकंजे में लाया जाएगा, जो तकनीक का दुरपयोग भ्रूण का लिंग पता करके बेटियों को जन्म लेने से रोक रहे हैं.

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, घटता हुआ लिंगानुपात आज समाज की एक ज्वलन्त समस्या है. इसके दृष्टिगत राज्य सरकार द्वारा मुखबिर योजना का शुभारम्भ किया गया है. 

घटते लिंगानुपात को रोकने के लिए जनजागरूकता व कानून की आवश्यकता है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बेटियों पर होने वाले भेदभाव को समाप्त करने तथा बेटियों को उनका हक दिलाने के लिए बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना संचालित की है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि लिंग परीक्षण करके बालिका भ्रूण हत्या रोकने का कार्य जन सहयोग के बिना सम्भव नहीं है. इसके लिए राज्य सरकार ने मुखबिर योजना शुरू की है. लिंग चयन एवं लिंग चयन के पश्चात विशेष लिंग की भ्रूण हत्या के अवैध कार्य में संलिप्त व्यक्तियों, केन्द्रों, संस्थाओं की गोपनीय रूप से जांच की जाए तथा ऐसे व्यक्तियों, केन्द्रों, संस्थाओं को डिक्वाय आपरेशन के माध्यम से प्राप्त सूचना के आधार पर दण्डित किया जाएगा.

योगी ने कहा कि इस योजना के माध्यम से भ्रूण हत्या के सम्बन्ध में जनता से गोपनीय रूप से सूचना प्राप्त की जाएगी. ऐसे व्यक्तियों और संस्थाओं के विरुद्ध कार्रवाई करके उन्हें कानून के शिकंजे में लाया जाएगा, जो तकनीक का दुरपयोग भ्रूण का लिंग पता करके बेटियों को जन्म लेने से रोक रहे हैं.

Similar Post