प्रसाद बनाते, चढ़ाते और खाते समय किन बातों का रखना चाहिए ध्यान, जानिए

img

हिंदू धर्म में होने वाले लगभग हर एक पूजा-पाठ में प्रसाद का इस्तेमाल किया जाता है। प्रसाद को भगवान का आशीर्वाद माना जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि प्रसाद बनाते, चढ़ाते और खाते समय कुछ खास बातों का ध्यान रखने के लिए कहा गया है। यदि नहीं तो आज हम आपको इस बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं। ऐसा कहा जाता है कि प्रसाद का संबंध पृथ्वी तत्व से है। ऐसे में भगवान के प्रसाद या भोग में भूलकर भी नमक, मिर्च और तैल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। भगवान को चढ़ाए जाने वाले प्रसाद में मिठी चीजों के प्रयोग को ही शुभ माना गया है।

ऐसा भी कहा जाता है कि प्रसाद में तुलसी के पत्ते का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। मान्यताओं के अनुसार अलग-अलग देवी-देवाताओं को अलग-अलग तरह का प्रसाद चढ़ाना चाहिए। कहते हैं कि हर एक देवी-देवता के कुछ प्रिय भोग हैं। ऐसे में प्रसाद चढ़ाते समय उन बातों का ख्याल रखने के लिए कहा जाता है। ऐसा भी कहा जाता है कि भगवान को भोग लगाने के तुरंत बाद ही उसे हटा नहीं लेना चाहिए। बल्कि भोग को कुछ समय के लिए भगवान के पास छोड़ देना चाहिए। भोग को भगवान के सामने से तुरंत हटा लेना उनका अपमान माना जाता है।

भगवान को भोग लगाते समय दिशा का भी ख्याल रखना चाहिए। कहते हैं कि भोग सदैव भगवान की प्रतिमा के दक्षिण दिशा में रखा जाना चाहिए। ऐसा भी कहा जाता है कि पका हुआ भोग देवी-देवता की बायीं तरफ व कच्चा भोग दायीं तरफ रखना चाहिए। ऐसी मान्यता है कि प्रसाद सदैव आगे की ओर झुककर ग्रहण करना चाहिए। इससे शरीर के रजो और तमो गुण पर नियंत्रण रहने की बात कही गई है। प्रसाद के संदर्भ में कहा जाता है कि इसे ग्रहण करने से कभी भी मना नहीं करना चाहिए, भले ही वह प्रसाद आपका शत्रु दे रहा हो।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement