केन्द्र सरकार के खिलाफ राष्ट्रव्यापी हड़ताल को लेकर श्रम संगठनों की हुई बैठक

img

रतलाम, शुक्रवार, 20 नवम्बर 2020। राष्ट्रव्यापी आम हड़ताल को सफल बनाने के लिए विभिन्न श्रम संगठनों के पदाधिकारियों की एक बैठक हुई, जिसमें मुख्य रूप से एम आर यूनियन,  बैंक, बीमा, पोस्टल, इंटक, सीटू, मानव अधिकार संरक्षक परिषद् के पदाधिकारी शामिल रहे। श्रम संगठन की संयुक्त समिति के अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने बैठक में बताया कि  मजदूर विरोधी विनाशकारी नीतियों एवं वेतन कटौती तथा रोजगार के नुकसान के खिलाफ 26 नवम्बर को एक दिवसीय राष्ट्रव्यापी हड़ताल रखी गई है। जिसका सभी केंद्रीय ट्रेड यूनियन एवं राष्ट्रीय फेडरेशन ने आह्वान किया है। 

संयुक्त समिति की बैठक को इंटक जिला अध्यक्ष अरविन्द सोनी ने कहा कि सरकार द्वारा कार्यकारी आदेशों और अध्यादेशों के माध्यम से श्रम अधिकारों के कानूनों को दबाने और बदलने, बीमा व महत्वपूर्ण वित्तीय क्षेत्र रेलवे, रक्षा, कोयला इस्पात, पेट्रोलियम, बिजली आदि सहित केंद्रीय और राज्य के सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों के विनाशकारी विनिवेशिकरण/निजीकरण, निरंतर नौकरी के खात्मे, वेतन में कटौती, सरकारी कर्मचारी, सार्वजनिक उपक्रमों के कर्मियों पर थोपी जा रही समयपूर्व सेवानिवृत्ति, महंगाई भत्ता, पेंशन धारियों के महंगाई राहत फ्रिज किया जाना, कृषि और कृषि उत्पादों के व्यापार के प्रबंधन में जन विरोधी परिवर्तन और अध्यादेशों के माध्यम से आवश्यक वस्तु अधिनियम का खात्मा, कामकाजी जनता के लोकतांत्रिक अधिकारों और समाज में अन्य वर्गों पर हमलों के खिलाफ एक दिवसीय राष्ट्रव्यापी हड़ताल की जा रही है। 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement