चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों से शिवराज सरकार का धोखा- भूपेन्द्र गुप्ता

img

भोपाल, रविवार, 01 नवम्बर 2020। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने मध्य प्रदेश सरकार द्वारा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की रिटायरमेंट की उम्र 62 साल से घटाकर पुनः 60 वर्ष करने के फैसले को चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के साथ धोखा बताया है। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश सरकार छोटे कर्मचारियों को अधिकारियों से कमतर मानकर उनकी सेवा शर्तों में भेदभाव कर रही है। इसके कारण चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के सामने संकट खड़ा होने वाला है। 

गुप्ता ने कहा कि शिवराज सरकार एरियर्स देने की स्थिति में नहीं है, बाजार से उधार ले रही है। तब ग्रेच्युटी और पेंशन कैसे देगी, यह कर्मचारी जानना चाहते हैं। भूपेंद्र गुप्ता ने कहा कि सरकार को सभी वर्ग के कर्मचारियों की सेवा शर्तों को एकरूप रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐन चुनाव के पूर्व 29 अक्टूबर को गजट प्रकाशन करने से सरकार की नीयत का खोट उजागर हो गया है। किसी विशेष वर्ग के कर्मचारियों की सेवा शर्तों में बदलाव उस संवर्ग के कर्मचारियों के साथ अन्याय और भेदभाव पूर्ण हैं। गुप्ता ने कहा कि सरकार इस फैसले को तत्काल वापिस ले या फिर सभी संवर्ग के कर्मचारियों और अधिकारियों पर भी इसे लागू करे। गुप्ता ने विश्वास जताया कि इस भेदभाव का उपचुनाव में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी जरूर देंगे।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement