महागठबंधन की प्रेस वार्ता: तेजस्वी ने उठाए सवाल, पूछा- मुंगेर में पुलिस को जनरल डायर बनने की अनुमति किसने दी

img

पटना, बुधवार, 28 अक्टूबर 2020। बिहार विधानसभा चुनाव में पहले चरण की 71 सीटों के लिए मतदान जारी है। इस बीच महागठबंधन ने मुंगेर मामले को लेकर एक अहम प्रेस वार्ता की। इस प्रेस वार्ता के जरिए मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव और कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा।  तेजस्वी यादव ने मुंगेर में पुलिस लाठीचार्ज की निंदा करते हुए कहा कि जो वीडियो क्लिप हमारे सामने आया है वो दर्दनाक है। वहां पर मौजूद लोगों को समझ नहीं आया कि पुलिस अचानक से बर्बर कैसे हो गई।

लोगों को पीटने क्यों लगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जो राज्य के गृह मंत्री भी हैं वो क्या कर रहे थे। क्या उनको सूचना नहीं है ? उन्होंने आगे पूछा कि सुशील मोदी जी ने ट्वीट के अलावा क्या किया है ? इसी के साथ तेजस्वी यादव ने सुशील मोदी से पूछा कि पुलिस को जनरल डायर बनने की अनुमति किसने दी। उन्होंने हाई कोर्ट के रिटायर जज से मामले की जांच कराने की मांग की और कहा कि जो भी दोषी पाए जाएं उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दी जाए। खासतौर से जो एसपी और डीएम हैं उन्हें तत्काल प्रभाव से हटाया जाना चाहिए। तेजस्वी ने आगे कहा कि जनरल डायर बनने का आदेश कहीं-न-कहीं से जरूर गया है। 

उन्होंने कहा कि लगातार हम कहते रहे हैं कि बिहार की कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। बिहार की पुलिस को हमने नहीं देखा कि अपराधियों के साथ ऐसा व्यवहार किया जाए, कानून व्यवस्था को कंट्रोल किया जाए। बल्कि मासूमों को जिस तरह से पीटने का काम किया गया है वो गलत है। तेजस्वी यादव ने कहा कि कानून-व्यवस्था पर अगर सवाल खड़ा किया जाए तो पितृपक्ष में सुशील मोदी ने हाथ जोड़कर अपराधियों से कहा था कि हे अपराधीगण अभी माफ कीजिए, अभी छोड़ दीजिए, बाद में अपराध को जारी रखिएगा। यदि किसी राज्य के उपमुख्यमंत्री इस तरह से अपराधियों के सामने घुटने टेक दें तो क्या हो सकता है इसपर हमें कुछ नहीं कहना है।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement