ऑयल पुलिंग करने से होते है कई लाभ, जानें कैसे करें

img

दांतों, जीभ और मुख के भीतर वाले भाग को निरोगी रखने के लिए ऑयल पुलिंग करने की राय आयुर्वेद में दी गई है. ऐसा करीब तीन हजार से अधिक सालों से किया जा रहा है. इस ऑयल पुलिंग कई अन्य कई लाभ भी हैं. कुछ खास ऑइल से ही इसको किया जा सकता है.  

ऐसे किया जाता है ऑयल पुलिंग  
तिल, जैतून या नारियल के ऑइल को मुख में लेकर दस-पंद्रह मिनट के लिए घुमाया जाता है. इसके बाद जब ऑइल पतला हो जाता है तो इसे थूककर मुंह की अच्छी प्रकार से सफाई कर ली जाती है.  

ऑयल पुलिंग के समय बरती जाने वाली सावधानी
इसे करते वक्त ख्याल रखें कि तेल निगले नहीं क्योंकि पंद्रह मिनट की प्रोसेस में मुंह में मौजूद तेल में बैक्टीरिया, वायरस व विषाक्त पदार्थ और बढ़ जाते हैं. साथ ही ख्याल रखें कि प्रातः के वक्त खाली पेट तेल से कुल्ला करने से अधिक लाभ होता है. ऐसा करने के बाद आप नमक से दांतों और मसूढ़ों की अच्छी से मसाज भी कर सकते हैं.  

इससे होने वाले लाभ 
ऑयल पुलिंग से मुख के बैक्टीरिया खत्म हो जाते हैं. साथ ही दांतों की सेंसिविटी कम होने के साथ-साथ इससे सिरदर्द, ब्रोंकाइटिस, दांतदर्द, अल्सर, पेट, किडनी, आंत, हार्ट, लिवर, फेफड़ों के रोग और अनिद्रा में भी आराम मिलता है. इसके आलावा बैक्टीरिया के बाहर निकलने से पाचन क्षमता भी अच्छी होती है.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement