बार्सिलोना की खूबसूरती उसकी विरासत में भी झलकती है

img

देखे जाने से पहले भी हर शहर के नाम के साथ एक इमेज मन में तैरती जाती है. बार्सिलोना का नाम बचपन में पहली बार तब सुना था, जब वहां ओलंपिक खेल हुए थे. तब से मन में इस शहर की इमेज एक खिलंदड़े जवान की सी बसी हुई थी. लेकिन पहुंचने पर कई सौ सालों का इतिहास समेटे, अब भी अपनी अलग पहचान की जद्दोजहद में लगे एक प्रौढ़ शहर को अपने पूरे विस्तार में बाहें फैलाए इंतजार करता पाया. दो हजार फुट की ऊंचाई से बार्सिलोना का रंग धूसर पीला नजर आता है. बीच-बीच में किसी चित्रकार की कूंची से गलती से टपक गए लाल रंग के छींटों को छोड़ दें तो.

घनी, गुंथी हुई बस्तियां मीलों तक फैली दिखती हैं. यूरोप का कोई और शहर आसमान से इतना सघन नहीं दिखता. यूं एयरपोर्ट से शहर के रास्ते सड़कों पर दौड़ते हुए सफेद दीवारों और काले शीशों वाली नई सीरत की कई इमारतें भी नजर आईं, शहर की आत्मा पर पैबंद सी चिपकी हुई. मुझे लगता है हर शहर का एक रंग मुकर्रर होना चाहिए, उसी रंग में शहर की आत्मा धड़कती रहे और हम जैसे सैलानी उसी रंग की तलाश में अपनी खोह से बाहर निकल उसकी गलियों के ओर-छोर मापते रहें. बार्सिलोना, स्पेन के कैटलूनिया प्रांत की राजधानी है. देश का वो हिस्सा, जो सालों से स्पेन से अलग होने की कोशिश में लगा है. इस कोशिश में बार्सिलोना को भले अब तक सफलता नहीं मिली हो लेकिन उसकी सांस्कृतिक पहचान और प्रतिबद्धता अपनी जगह कायम है.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement