यूपी में अफवाह के कारण मॉब लिचिंग का शिकार बना शख्स

img

मैनपुरी, मंगलवार, 08 सितम्बर 2020। जब सर्वेश दिवाकर ने अपनी बेटी को नोएडा में एक रिश्तेदार के पास रहने के लिए भेजा था, तो उन्हें भी शायद इस बात का अंदाजा नहीं होगा यह फैसला उनकी मौत का कारण बन जाएगा। उनके पड़ोसियों को लगा कि उन्होंने अपनी बेटी को 'बेच दिया' और रविवार शाम को उनके साथ मारपीट की। वह घंटों तक सड़क पर पड़े रहे, लेकिन कोई उन्हें अस्पताल नहीं ले गया।

अखिरकार जब पुलिस मौके पर पहुंची चब जाकर दिवाकर को अस्पताल ले जाया गया। हालांकि, गंभीर रूप से चोटिल दिवाकर ने सोमवार को दम तोड़ दिया। एसपी अजय कुमार ने कहा, "हमने आईपीसी की धारा 302 (हत्या) और एससी/एसटी एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज की है और एक वीडियो से चार लोगों की पहचान की गई है जिसे एक स्थानीय निवासी ने बनाया है। एक व्यक्ति का अभी तक पता नहीं चला है।" शव को ऑटोप्सी के लिए भेज दिया गया है।

दिवाकर (45) फिरोजाबाद के सिरसागंज के एक हलवाई थे जो अपनी 16 वर्षीय बेटी के साथ किराये के मकान में मैनपुरी में रह रहे थे। उनकी बेटी पढ़ाई जारी रखते हुए इलाके के कुछ घरों में नौकरानी के रूप में काम करती थी। दिवाकर हाल के दिनों में आर्थिक तंगी का सामना कर रहे थे, इसलिए उन्होंने अपनी बेटी को नोएडा में एक रिश्तेदार के घर भेज दिया ताकि उसकी देखभाल की जा सके। पड़ोस में किसी ने अफवाह उड़ा दिया कि उन्होंने लड़की को 'बेच दिया' है और स्थानीय निवासी उन पर टूट पड़े।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement