गेस्ट टीचर्स व ठेका शिक्षक भी ऑनलाइन शिक्षण में शामिल किए जाएंगे- सिसोदिया

img

नई दिल्ली, बुधवार, 08 जुलाई 2020। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को स्कूलों को निर्देश दिया कि वे अतिथि और निविदा के आधार पर कार्य कर रहे शिक्षकों को भी नयी शिक्षण-अध्ययन योजना में शामिल करें। शिक्षा विभाग का भी कार्यभार देख रहे सिसोदिया ने कहा कि उन्हें पता चला है कि कई स्कूल सरकारी निर्देशों के बावजूद इन शिक्षकों को नयी योजना में शामिल नहीं कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस की महामारी की वजह से बंद स्कूलों में छात्रों के शैक्षणिक सत्र की हुई हानि और डिजिटल अंतर की समस्या को पाटने के लिए दिल्ली सरकार ने पिछले हफ्ते सभी कक्षाओं के लिए दूरस्थ शिक्षण-अध्ययन योजना की घोषणा की थी। सिसोदिया ने कहा कि सरकारी स्कूलों में नियुक्त अतिथि शिक्षकों को भी ऑनलाइन शिक्षण प्रक्रिया में शामिल किया जाए। 

निदेशक (शिक्षा) को मंगलवार को लिखी गई चिट्ठी में सिसोदिया ने कहा, ‘‘ हमारी योजना तबतक प्रभावी नहीं होगी जबतक अतिथि और निविदा पर कार्यरत सहित सभी शिक्षकों की सीधी भूमिका बच्चों की कक्षाएं लेने में नहीं हो जैसा कि लॉकडाउन से पहले था।’’ उन्होंने कहा, कि नयी योजना केवल घर में काम करने के लिए देना और ऑनलाइन कक्षाएं लेना नहीं है, बल्कि यह एक व्यापक कोशिश प्रत्येक बच्चे से नियमित रूप से जुड़े रहने और यह जानने की है कि वह कैसा कर रहा है,घर में पढ़ने में मदद करना और हर किसी जरूरत में सहायता करने का है।

सिसोदिया ने कहा कि यह तभी संभव होगा जब स्कूल के सभी शिक्षक एक निश्चित संख्या में छात्रों की व्यक्तिगत तौर पर जिम्मेदारी लेंगे। पत्र में उपमुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ इसलिए, सभी शिक्षकों को यह सुनिश्चित करने में शामिल होना चाहिए कि उनकी कक्षा के सभी बच्चे शिक्षण अध्ययन गतिविधि में हिस्सा ले रहे हैं। उन्होंने लिखा, ‘‘इसी के अनुरूप, कृपया सभी स्कूलों के प्रमुखों को सभी इच्छुक अतिथि और संविदा शिक्षकों को बुलाने का निर्देश दें, जिन्होंने मई 2020 में गर्मी की छुट्टी से पहले अपनी सेवा प्रदान की थी और शिक्षण-अध्ययन और/ या किसी अन्य कार्य को करने के लिए उनकी सेवा लेते रहे।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement