पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी तत्काल वापस ले सरकार- राहुल

img

नई दिल्ली, सोमवार, 29 जून 2020। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी को लेकर सोमवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि देश के गरीबों, मजदूरों और मध्य वर्ग को राहत देने के लिए पेट्रोलियम उत्पादों के दाम में वृद्धि तत्काल वापस ली जाए। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना वायरस महामारी, बेरोजगारी और 'आर्थिक तूफान' के इस दौर में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी करके सरकार आम लोगों पर सीधी चोट कर रही है। गांधी ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ कांग्रेस की ओर से सोशल मीडिया में चलाए गए 'स्पीक अप अगेंस्ट फ्यूल हाइक' (पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ आवाज बुलंद करो) अभियान के तहत वीडियो संदेश जारी करके यह टिप्पणी की। उन्होंने कहा, ''कोरोना, बेरोजगारी और आर्थिक तूफान आया हुआ है।

इस तूफान से सबको नुकसान हुआ है। अमीरों को चोट लगी है, गरीबों को चोट लगी, गरीबों और मजदूरों को चोट लगी है। लेकिन सबसे ज्यादा दर्द मजदूरों, किसानों, मध्य वर्ग और वेतन भोगी वर्ग को हुआ है।" कांग्रेस नेता ने कहा, ''हमने कहा था कि इन वर्गों की सरकार को आर्थिक मदद करनी पड़ेगी। हमने सुझाव दिया था कि 'न्याय' योजना की तर्ज पर हर गरीब आदमी के खाते में कुछ महीने के लिए सीधे पैसे डालिए। इसके साथ ही एमएसएमई के लिए पैकेज का आग्रह भी किया था।" उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार ने गरीबों और छोटे कारोबारियों को राहत देने के बजाय 15 सबसे अमीरों के कर्ज बट्टे खाते में डाल दिए। राहुल गांधी ने आरोप लगाया, ''सरकार ने सबसे बड़ा गलत काम यह किया कि हाल के समय में पेट्रोल और डीजल की कीमत में 22 बार बढ़ोतरी की। इससे कमजोर और गरीब लोगों को सीधी चोट की गई।" उन्होंने कहा, ''कच्चे तेल की कीमत लगातार गिर रही है। हमने यह मांग की है कि उत्पाद शुल्क में बढ़ोतरी को वापस लिया जाए और पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी को भी तत्काल वापस लिया जाए।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement