तिल खाने से कम हो जाता है हार्ट अटैक का खतरा

img

आप सभी को बता दें कि आयुर्वेद में छोटी से लेकर बड़ी बीमारियों का इलाज बताया गया है. ऐसे में कई बीमारियों का इलाज तो हमारे किचन में ही मौजूद होता है लेकिन हम उन्हें जानते नहीं है. ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं तिल का सेवन करने से सेहत से जुड़ी किन समस्याओं में राहत मिलती है. आइए जानते हैं.

कब्ज में मिलता है आराम - जी दरअसल तिल खाने से शरीर की खोई हुई ऊर्जा वापस आती है. तिल से बनी चीजें खाने से आपको कब्ज से छुटकारा मिल सकता है. काले तिल को चबाकर खाने और उसके बाद ठंडा पानी पीने से बवासीर की समस्या में भी आराम मिलता है.

हार्ट अटैक का खतरा कम - बहुत कम लोग जानते हैं कि तिल में मोनो-सैचुरेटेड फैटी एसिड मौजूद होता है, जो शरीर से बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर गुड कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ाता है. इसे खाना दिल की बीमारियों में फायदेमंद है.

सूखी खांसी और दर्द में राहत - आपको बता दें कि सूखी खांसी में तिल के साथ थोड़ी से मिश्री मिलाकर खाने से आराम मिलता है. इसी के साथ कान में दर्द हो तो तिल के तेल में लहसुन की एक कली डालकर हल्का गर्म करें और ठंडा कर कान में डालें, लाभ होगा.

बालों का पकना-झड़ना बंद करे - बहुत कम लोग जानते हैं कि तिल हमारे बालों के लिए भी पोषक होता है. जी दरअसल बालों में तिल के तेल का इस्तेमाल करने से बहुत फायदा होता है. अगर आपके बाल असमय पकने और झड़ने लगे हैं तो तिल खाना शुरू कर दीजिये.

चिंता और तनाव दूर करे - जी दरअसल मानसिक समस्याओं में तिल का सेवन करना फायदेमंद होता है. अगर तनाव, अवसाद, चिंता है तो तिल खाना आरम्भ कर दें.

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement