RBI का ऐलान: लोन की 3 महीने और EMI नहीं देने की छूट

img

नई दिल्ली, शुक्रवार, 22 मई 2020। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास प्रेस कॉन्फ्रेंस करके रेपो रेट 4.4 प्रतिशत से घटकर 4.0 फीसदी करने का ऐलान किया है। इससे ब्याज दरों में कमी आ सकती है। उन्होंने कहा कि कि लॉकडाउन के चलते मांग और उत्पादन दोनों में कमी आई है। साथ ही कोरोना के कारण अर्थव्यवस्था को हुआ है। उन्होंने कहा कि हालांकि देश में खाद्यान्न उत्पादन बढ़ा है, लेकिन दालों की कीमतों में बढ़ोत्तरी चिंता विषय है।

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने देश के सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी की वृद्धि दर 2020-21 में निराशाजनक रहने की संभावना जताई। आरबीआई के अनुसार चालू वित्त वर्ष में जीडीपी विकास दर नकारात्मक रह सकता है।  भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने कर्ज लेकर घर या वाहन खरीदने वालों से पर्सनल लोन लेने वालों के लिए शुक्रवार को फिर एक राहत का ऐलान किया।  आरबीआई ने होम लोन, पर्सनल लोन, वीकल लोन की अदायगी की मासिक किस्त रोनके की अवधि अब 31 अगस्त तक के लिए बढ़ा दी है। 

मतलब कोरोना महामारी के संकट के समय लोगों को मासिक किस्त यानी ईएमआई भरने को लेकर बहरहाल चिंता करने की जरूरत नहीं है।  आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने ईएमआई चुकाने में राहत की अवधि एक जून से बढ़ाकर 31 अगस्त तक करने का एलान किया।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement