सरकार को प्रवासी मजदूरों को ले जाने के लिए निजी गाड़ियों को इजाजत देनी चाहिए- राउत

img

मुंबई, रविवार, 10 मई 2020। शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने रविवार को कहा कि महाराष्ट्र सरकार को लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों को उनके मूल स्थानों पर ले जाने के लिए निजी गाड़ियों को अनुमति देनी चाहिए। प्रवासी मजदूरों के अपने गृह नगर पैदल जाने पर चिंता व्यक्त करते हुए राउत ने कहा कि वे बीमार पड़ रहे हैं और उनमें से कुछ की मौत भी हो गई है।

Sanjay Raut@rautsanjay61

मजुर वर्ग चालत निघाला आहे हे चित्र चांगले नाही. लहान मुले तयांचया बरोबर आहेत. रेलवे त्यांच्या साठी गाड्या सोडायला तयार नाही. राज्य सरकारने खाजगी वाहनांना परवानगी देणे गरजेचे आहे. लोकं चालताना आजारी पडत आहेत. मरत आहेत. तयांचे चालणे तरीही थांबले नाही.बेकायदेशीर निघालेच आहेत ना?

3,912

9:42 am - 10 मई 2020

Twitter Ads की जानकारी और गोपनीयता

राउत ने ट्वीट किया, मजदूर वर्ग पैदल ही घर वापस जा रहा है। यह अच्छी तस्वीर पेश नहीं करता है। उनके बच्चे उनके साथ हैं। रेलवे उनके लिए ट्रेनें चलाने को तैयार नहीं है। राज्य सरकार को निजी गाड़ियों को चलाने की इजाजत देनी चाहिए। राज्यसभा सदस्य ने कहा, लोग पैदल जाने के कारण दौरान बीमार पड़ रहे हैं। कुछ की तो मौत भी हो गई है। फिर भी उनका पैदल जाना नहीं रुका है।’’ उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश लौटने के दौरान रेल की पटरियों पर सो रहे 16 प्रवासी मजदूरों की शुक्रवार को महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में मालगाड़ी से कटकर मौत हो गई थी।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement