मायावती की मांग, गरीबों को भोजन देने के लिये खोले जाएं सरकारी गोदामों के दरवाजे

img

लखनऊ, सोमवार, 27 अप्रैल 2020। बसपा अध्यक्ष मायावती ने लॉकडाउन के दौरान लाखों गरीब प्रवासी मजदूरों को भोजन उपलब्ध कराने के लिये सरकारी गोदामों में रखे अनाज का इस्तेमाल किए जाने की मांग की है। मायावती ने सोमवार को ट्वीट किया, केन्द्र और सभी राज्य सरकारें कोरोना वायरस की जांच बढ़ाने के साथ-साथ लाखों लाचार गरीब मजदूर प्रवासियों को पेट भर खाना उपलब्ध करायें, वरना भूख से तड़पते ये लोग कैसे अपनी रोग प्रतिरोधक बढ़ाकर घातक कोरोना वायरस बीमारी से बच पायेंगे? सरकारी गोदामों का गल्ला आखिर किस दिन काम आएगा?

Mayawati@Mayawati

 · 2 घंटे

1. केन्द्र व सभी राज्य सरकारंे कोरोना वायरस की टेस्टिंग बढ़ाने के साथ-साथ खासकर लाचार लाखों गरीब मजदूर प्रवासियों को पेट भर खाना उपलब्ध कराये वरना भूख से तड़पते ये लोग कैसे अपनी इम्यूनिटी बढ़ाकर घातक कोरोना बीमारी से बच पायेंगे? सरकारी गोदामों का गल्ला आखिर किस दिन काम आएगा? 1/2

Mayawati@Mayawati

2. वैसे बेहत्तर तो यही होगा कि सरकारें लाॅकडाउन से पीड़ित इन लाखों मज़लूम व मजबूर लोगों की जल्दी से जल्दी उचित व्यवस्था करके इन्हें इनके घरों में सुरक्षित भिजवाये तथा इनको जीने के लिए फौरी तौर पर इनकी कुछ आर्थिक मदद भी जरूर करे, बी.एस.पी. की पुनः यह माँग है। 2/2

1,203

1:30 pm - 27 अप्रैल 2020

Twitter Ads की जानकारी और गोपनीयता

उन्होंने कहा वैसे बेहतर तो यही होगा कि सरकारें बंद के दौरान पीड़ित इन लाखों मज़लूम और मजबूर लोगों के लिए जल्दी से जल्दी उचित व्यवस्था करके इन्हें इनके घरों में सुरक्षित भिजवाये तथा इन्हें फौरी तौर पर कुछ आर्थिक मदद भी जरूर दे। बसपा एक बार फिर यह मांग करती है।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement