तबलीगी जमात का मुखिया मौलाना यू-ट्यूब चैनल पर देता था भड़काऊ भाषण, जांच में जुटी पुलिस का खुलासा

img

नई दिल्ली, रविवार, 26 अप्रैल 2020। दिल्ली में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढती जा रही है। इन मरीजों में सबसे बडी संख्या तबलीगी जमात से जुड़े लोगों की है। पुलिस की अपराध शाखा ने तबलीगी जमात के मुखिया के बारे में दी ये मुख्य जानकारियां।  निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज का मौलाना मोहम्मद साद यू-ट्यूब चैनल चलाकर भड़काऊ भाषण देता था। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा इस चैनल की डिटेल खंगालकर पता कर रही है कि साद के यू-ट्यूब चैनल को किस-किस ने देखा है।  इस चैनल के माध्यम से मौलाना साद दूसरी तरफ, क्वारंटीन का समय पूरा कर चुके विदेशी जमातियों को लेकर अब तक कोई निर्णय नहीं कर पाई है। ये क्वारंटीन सेंटर में ही रह रहे हैं। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि इस बारे में प्रशासन निर्णय लेगा। 

अपराध शाखा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि फिलहाल मौलाना साद के यू-ट्यूब चैनल के बारे में पता किया जा रहा है कि उसे किस-किसने और कहां-कहां से एक्सेस किया था।  पुलिस ने बताया कि मौलाना साद कहां बैठकर चैनल के लिए रिकार्डिंग करता था। हालांकि अब तक इस जगह या स्टूडियो का पता नहीं लग पाया है। मौलाना साद इस चैनल के माध्यम से भड़काऊ भाषण देता था। पुलिस अधिकारियों के अनुसार, चैनल की डिटेल खंगालने से पता लग सकता है कि तबलीगी जमात में कहां-कहां से लोग आए थे। 

दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के अनुसार, मरकज मामले में अब तक 70 से ज्यादा लोगों से पूछताछ हो गई है। कोई भी व्यक्ति पूछताछ में न तो सहयोग कर रहा है और न ही सवालों के जवाब दे रहा है। अब तक मौलाना साद के कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट भी नहीं मिली है। रिपोर्ट मिलने ही साद से पूछताछ की जाएगी। पुलिस ने सवालों की सूची तैयार कर ली है। इस बारे में पूछने पर अपराध शाखा के अधिकारी आधिकारिक तौर पर यही कह रहे हैं कि साद के खिलाफ सबूत एकत्र किए जा रहे हैं।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement