कर्नाटक राज्य सड़क परिवहन निगम ने अपनी एक बस को मोबाइल फीवर क्लीनिक में बदला

img

मैसूर, शनिवार, 25 अप्रैल 2020। कर्नाटक राज्य सड़क परिवहन निगम (केएसआरटीसी) ने कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर अपनी एक बस को मोबाइल फीवर क्लीनिक में बदल दिया है। इस बस को एक अस्पताल की तरह तैयार किया गया है। बस कोरोना के मरीज के लिए एक बिस्तर और डॉक्टर के लिए एक केबिन बनाया गया है। इसके अलावा बैठने की सुविधा, दवाई बॉक्स, सैनिटाइजर समेत अन्य स्वस्थ्य उपकरण लगाए गए हैं। केएसआरटीसी के अनुसार एक बस में क्लिनिक के निर्माण की लागत 50,000 रुपये आई है।

कर्नाटक में पिछले 24 घंटे में 15 नए मामले सामने आए हैं। प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 474 हो गई है। वहीं, इस जानलेवा वायरस से 18 लोगों की मौत हो चुकी है। 152 मरीज पूरी तरह से ठीक हो गए हैं या फिर उन्हें अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है।  देशभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 1429 नए मामले सामने आए हैं और 57 लोगों की मौत हो गई है। इसके बाद देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 24,506 हो गई है, जिसमें 18,668 सक्रिय हैं। 775 लोगों की मौत हो गई है।

ANI@ANI

#WATCH Mysuru: Karnataka State Road Transport Corporation (KSRTC) has converted one of their buses into a Mobile Fever Clinic, in wake of #COVID19 pandemic.

357

1:50 PM - Apr 25, 2020

Twitter Ads info and privacy

 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement