निशा जिंदल के नाम से युवक चलाता था फेसबुक अकाउंट, करता था भड़काऊ पोस्ट

img

रायपुर, सोमवार, 20 अप्रैल 2020। फेसबुक पर एक लंबे अरसे निशा जिंदल नाम के प्रोफाइल ने करीब 10 हजार लोगों को बेवकूफ बनाया। यह वो नाम है जो आज हर किसी की जुंबा पर बना हुआ है। निशा जिंदल नाम के फेसबुक प्रोफाइल के 10 हजार से अधिक फॉलोअर्स थे। जिन्हें 17 अप्रैल की दरमियानी रात एक बहुत बड़ा झटका लगा। दरअसल, निशा जिंदल नाम से प्रोफाइल कोई लड़की नहीं बल्कि एक लड़का चला रहा था।

निशा जिंदल नामक आईडी में पुलिस कर्मचारी भी थे मित्र

छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले की पुलिस ने महिलाओं के नाम से फर्जी फेसबुक प्रोफाइल बनाकर साम्प्रदायिक मुद्दों पर भड़काऊ टिप्पणी करने के मामले में इंजीनियरिंग के एक छात्र को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किया गया युवक निशा जिंदल नामक फर्जी आईडी से टिप्पणी करता था। जिसमें चार हजार की संख्या में लोग जुड़े हुए थे जबकि 10 से अधिक लोग इस फेसबुक आईडी को फॉलो करते थे। 

इतना ही नहीं युवक ने इस आईडी में व्यापारी, पुलिस कर्मचारी से लेकर पत्रकार तक को जोड़ रखा था। यानि कि फेसबुक मित्र बनाया हुआ था। बता दें कि युवक, निशा जिंदल के नाम से फर्जी फेसबुक प्रोफाइल में खुद को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और विश्व व्यापार संगठन जैसे बड़े वैश्विक संगठनों का सदस्य बताता था।

युवक पाकिस्तानी लड़कियों की तस्वीर का करता था इस्तेमाल

पुलिस अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक शहर के कबीर नगर थाना क्षेत्र की पुलिस ने फर्जी फेसबुक प्रोफाइल बनाकर साम्प्रदायिक मुद्दों पर भड़काऊ टिप्पणी करने के मामले में रवि पुजार, जिसकी उम्र 31 साल है उसे शुक्रवार की रात को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि कबीर नगर थाना क्षेत्र की पुलिस को अज्ञात आरोपी द्वारा फेसबुक पर साम्प्रदायिक मुद्दों पर भड़काऊ टिप्पणी करने के संबंध में शिकायत प्राप्त हुई थी। शिकायत के बाद मामले की जांच शुरू की गई थी।  पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आरोपी रवि महिलाओं के नाम पर फेसबुक पर फर्जी प्रोफाइल बनाता था और उसमें पाकिस्तानी लड़कियों की तस्वीर का उपयोग करता था।

गिरफ्तारी के बाद युवक ने पोस्ट की फोटो

जब पुलिस ने रवि पुजार नामक युवक को गिरफ्तार किया तब उसके निशा जिंदल वाले फर्जी फेसबुक अकाउंट से खुद का फोटो पोस्ट किया गया और उसमें लिखा कि 'मै निशा जिंदल हूं और अब मै पुलिस की हिरासत में हूं'। बता दें कि आरोपी रवि आईटी इंजीनियरिंग का छात्र है और वह साल 2009 से पढ़ाई कर रहा है लेकिन अभी तक पास नहीं हुआ है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी वर्ष 2012 से निशा जिंदल के नाम से फर्जी फेसबुक अकाउंट चला रहा था। इसके अलावा उसने महिलाओं के नाम पर पांच और भी फेसबुक प्रोफाइल बनाई हुई थी। वह सोशल मीडिया पर 13 से 14 घंटे तक सक्रिय रहता था।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement