कोरोना वायरस: 1.70 करोड़ पीपीई के आर्डर- डॉ. हर्ष वर्धन

img

नई दिल्ली, रविवार, 12 अप्रैल 2020। केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन की अध्यक्षता में कोविड-19 पर गठित उच्च स्तरीय मंत्री समूह की निर्माण भवन में हुई बैठक में कोविड-19 के प्रबंधन और निवारण पर विस्तृत चर्चा की गई । मंत्री समूह ने पीपीई, एन-95 मास्क और वेंटिलेटर की उपलब्धता पर भी चर्चा की। मंत्री समूह को बताया गया कि 30 स्वदेशी निर्माताओं को पीपीई बनाने के लिए चुना गया है और पीपीई की खरीद के लिए 1 करोड़ 70 लाख पीपीई के आर्डर दिए गए हैं तथा इसकी आपूर्ति शुरू हो गई है। इसके अलावा, 49 हजार वेंटिलेटर के लिए भी आर्डर दिए गए हैं। मंत्री समूह ने देश भर में जांच की नीति और जांच किट की उपलब्धता की समीक्षा के साथ हॉट-स्पॉट और कलस्टर प्रबंधन की नीति की समीक्षा भी की।

मंत्री समूह ने निर्देश दिया कि हाइड्रोक्सिक्लोरोक्विन-एचसीक्यू का उपयोग डॉक्टर की सिफारिश के आधार पर किया जाना चाहिए। हृदय से संबंधित बीमारी वाले लोगों के लिए इसकी सलाह नहीं दी जाती क्योंकि यह उनके लिए नुकसानदायक हो सकती है। मंत्री समूह को बताया गया कि देश में हाइड्रोक्सिक्लोरोक्विन का पर्याप्त भंडार रखा जा रहा है।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने कलस्टर कंटेनमेंट प्लॉन और अस्पताल तैयारियों (कोविड-19 के मरीजों के लिए आईसीयू और वेंटिलेटर प्रबंधन) से संबंधित गतिविधियों में सहायता के लिए राज्यों और राज्य के हेल्थ विभाग में उच्च स्तरीय बहु विभागीय केन्द्रीय दल भेजे हैं। ये दल बिहार, राजस्थान, गुजरात, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश में भेजे गए हैं। इसके अलावा, केन्द्रीय वैज्ञानिक और अनुसंधान संगठन की प्रयोगशालाओं और सेंटर फॉर सेलुलर और मॉलीक्युलर बायोलॉजी, हैदराबाद की प्रयोगशालाओं और इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटिग्रेटिव बायोलॉजी, नई दिल्ली ने नोवल कोरोना वायरस के वायरस की उत्पत्ति को समझने के लिए पूर्ण जीनोम सिक्वेंसिंग पर मिलकर काम करना शुरू कर दिया है।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement