कोविड-19 : गुरुग्राम में 3 प्राइवेट लैब कर सकेंगी कोरोना की जांच

img

गुरुग्राम, मंगलवार, 31 मार्च 2020। कोरोना संक्रमण के सैम्पल टेस्ट के लिए गुरुग्राम जिले में तीन प्राइवेट लैबोरेट्री को अधिकृत किया है। राज्य सरकार द्वारा उठाए गए इस कदम के बाद अब गुरुग्राम में कोरोना वायरस के संदिग्ध रोगियों की पहचान तेजी से की जा सकेगी। गौरतलब है कि पूरे हरियाणा में कोरोना वायरस के सबसे अधिक रोगी गुरुग्राम में ही पाए गए हैं। यहां विदेश से आए व्यक्तियों की संख्या भी पूरे राज्य में सबसे अधिक है। इस संबंध में जानकारी देते हुए हरियाणा सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "इन तीन लैब में गुरुग्राम के सेक्टर.34 स्थित स्ट्रैंड लाइफ साइंसेजए सेक्टर 18 स्थित एसआरएल लिमिटिड तथा गुरुग्राम के उद्योग विहार फेस-1 स्थित कोर डायग्नोस्टिक्स प्राइवेट लिमिटेड शामिल हैं। ये लैबोरेट्री आईसीएमआरए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वार दिशा-निर्देशों अनुसार कोविड-19 के सैंपल की जांच करेंगी।"

हरियाणा सरकार द्वारा इन लैब को हिदायत दी गई है कि यह लैब अपनी सैम्पल टेस्टिंग क्षमता का 50 प्रतिशत सरकारी अस्पतालों द्वारा भेजे जाने वाले सैम्पलों के लिये आरक्षित रखेंगे। इसके अलावा इन तीनों लैब संचालकों को यह भी हिदायत दी गई है कि वे सैंपलो के टेस्टों के लिए आईसीएमआर द्वारा निर्धारित 4500 रुपये की फीस ही लेंगी। इसमें 1500 रुपए स्क्रीनिंग टेस्ट तथा 3000 रुपये कंफर्मेटरी टेस्ट के चार्जेज शामिल हैं। अधिकारी ने कहा, "प्राइवेट चिकित्सकों को भी हिदायत दी गई है कि वे जो भी कोरोना का संदिग्ध केस टेस्ट करने के लिए प्राइवेट लैब में रेफर करेंगे, उसकी पूरी जानकारी स्वास्थ्य विभाग को देंगेए,जिसमें मरीज का नामए पताए संपर्क नंबर आदि होना चाहिये। इसके साथ हीए प्राइवेट चिकित्सक तथा लैब कोरोना पॉजिटिव केसों की भी पूरी जानकारी स्वास्थ्य विभाग को सिविल सर्जन के माध्यम से देंगे।"

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement