सलाखों के पीछे कैद आजम खान बोले, मेरे साथ बहुत अमानवीय बर्ताव हुआ है

img

सीतापुर, शनिवार, 29 फ़रवरी 2020। जेल में बंद समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान ने शनिवार को आरोप लगाया कि उनके साथ ही बहुत ही अमानवीय बर्ताव किया गया। खान को सुबह एक मामले की सुनवाई के लिये सीतापुर जेल से रामपुर ले जाया गया। उन्होंने रामपुर जाते समय जेल के बाहर पत्रकारों से कहा कि ‘‘बहुत अमानवीय बर्ताव हुआ है मेरे साथ।’’ खान की पत्नी एवं विधाय ताजीन फातिमा और उनके बेटे अब्दुल्ला आजम को भी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रामपुर ले जाया गया है।

रामपुर की एक अदालत ने बुधवार को रामपुर से समाजवादी पार्टी के सांसद आजम, रामपुर सदर सीट से विधायक उनकी पत्नी फातिमा और स्वार सीट से सपा विधायक एवं उनके पुत्र अब्दुल्ला को फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के मामले में दो मार्च तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेजने के आदेश दिए थे। बाद में खान, उनकी पत्नी और बेटे को गुरुवार सुबह सीतापुर जिला जेल स्थानांतरित कर दिया गया। आजम, उनकी पत्नी और पुत्र ने अपर जिला न्यायाधीश-6 (एमपी, एमएलए) धीरेन्द्र कुमार की अदालत में बुधवार को समर्पण किया था जहां से तीनों को दो मार्च तक के लिये न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। अदालत ने गत 24 फरवरी को आजम खां परिवार की अग्रिम जमानत की याचिका ठुकरा दी थी और उसकी सम्पत्ति की कुर्की का आदेश देते हुए गैर-जमानती वारंट भी जारी किया था।

भाजपा के स्थानीय नेता आकाश सक्सेना ने पिछले साल दर्ज कराये गये मुकदमे में अब्दुल्ला के दो जन्म प्रमाण पत्र बनवाये जाने का आरोप लगाया था। एक प्रमाण पत्र रामपुर से और दूसरा लखनऊ से जारी किया गया है। जांच में आरोप सही पाये गये। रामपुर नगर पालिका द्वारा जारी एक जन्म प्रमाणपत्र में अब्दुल्ला की जन्मतिथि एक जनवरी 1993 लिखी है। वहीं दूसरे प्रमाणपत्र में उनका जन्मस्थान लखनऊ दिखाया गया है और उनकी जन्मतिथि 30 सितम्बर 1990 लिखी है। आरोप है कि आजम और उनकी पत्नी ने साजिश करके अब्दुल्ला के दो जन्म प्रमाणपत्र बनवाये।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement