हस्तशिल्पियों, बुनकरों, दस्तकारों को ई-प्लेटफार्म उपलब्ध कराने की पहल करेगा उद्योग विभाग

img

जयपुर, शुक्रवार, 21 फ़रवरी 2020। प्रदेश के उद्योग आयुक्त मुक्तानन्द अग्रवाल ने कहा है कि प्रदेश के हस्तशिल्प और हस्तकला उत्पादों को देश-विदेश में बाजार उपलब्ध कराने के लिए ऑनलाईन मार्केटिंग संस्थाओं के सहयोग व समन्वय से संभावनाओं को तलाशा जाएगा। उन्होंने कहा कि इससे राजस्थान के विश्वप्रसिद्ध उत्पादों को बाजार मिल सकेगा, वहीं इनसे जुड़े शिल्पियों, बुनकरों, कारीगरों और दस्तकारों को ई प्लेटफार्म उपलब्ध होने के साथ ही उनकी मेहनत का बेहतर मूल्य मिल सकेगा।

आयुक्त अग्रवाल गुरुवार को उद्योग भवन में जानी मानी ऑनलाईन मार्केटिंग संस्था फ्लिपकार्ट के राजस्थान समूह प्रभारी द्वारा प्रजेंटेशन पर अधिकारियों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि खादी एवं ग्रामोद्योग, बुनकर संघ, राजसिको, राजस्थान हैण्डलूम डवलपमेंट कारपोरेशन, रुडा आदि संस्थाएं प्रदेश के बुनकरों, कतिनों, खादी ग्रामोद्योग उत्पादों, हस्तशिल्पियों और हस्तकलाओं के संवर्द्धन व मार्केटिंग में सहयोग कर रही है। उन्होंने बताया कि फ्लिपकार्ट जैसी ई-कॉमर्स संस्थाओं से जुड़ने से मार्केटिंग प्लेटफार्म उपलब्ध हो सकेगा। 

उन्होंने बताया कि राजस्थान की कोटा डोरिया साड़िया, बगरु-सांगानेरी, बाडमेरी चादरें, खेस, बीकानेर-जैसलमेर-बाडमेर के उनी वस्त्र, बाडमेर की एम्ब्रायडरी, दरियां, पट्टियां, खादी के परिधान, ग्रामोद्योग उत्पादों आदि के साथ ही जेम-ज्वैलरी, डेकोरेटिव आइटम, मिट्टी-मारबल, लाख, आइरन आदि उत्पादों को ई कॉमर्स कंपनियों के सहयोग से बाजार उपलब्ध कराने पर गंभीरता से विचार किया जाएगा। इस अवसर पर खादी एवं ग्रामोद्योग के सचिव हरिमोहन मीणा, रुडा के अधिशाषी निदेशक संजीव सक्सेना, राजसिको के दिनेश सेठी, राजस्थान हैण्डलूम डवलपमेंट कारपोरेशन के नायब खान आदि ने कहा कि राजस्थान के शिल्प और अन्य उत्पादों की अच्छी मांग होने के बावजूद मार्केटिंग की आवश्यकता है।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement