फसल बीमा योजना को स्वैच्छिक बनाने को लेकर चिदंबरम ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

img

नई दिल्ली, गुरुवार, 20 फ़रवरी 2020। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को स्वैच्छिक बनाने को लेकर बृहस्पतिवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि इससे बड़ा किसान विरोधी कदम और कुछ नहीं हो सकता। उन्होंने यह भी कहा कि फसल बीमा योजना के दायरे में अधिक भूक्षेत्र लाने की जरूरत है और इस योजना का कवरेज घटाने से लाखों किसानों के लिए भारी नुकसान का जोखिम पैदा हो गया है।

पूर्व वित्त मंत्री ने ट्वीट कर कहा, ‘‘फसल बीमा योजना में केंद्र द्वारा अपना अंशदान घटाने से ज्यादा बड़ा किसान विरोधी कदम और कुछ नहीं हो सकता।’’दरअसल, सरकार ने बुधवार को ‘प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना’ (पीएमएफबीवाई) को किसानों के लिए स्वैच्छिक बनाने का फैसला किया। इसमें अब ऐसे किसान, सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना को अपनाने या न अपनाने को स्वतंत्र होंगे जिन्होंने फसल कर्ज ले रखा है या जो फसल कर्ज लेना चाहते हैं। सरकार का कहना है कि कुछ किसान संगठनों और राज्य सरकारों ने इस कार्यक्रम को लागू किए जाने के विषय में कुछ चिंताएं जताई थीं। उसके मद्देनजर यह निर्णय किया गया है। 

P. Chidambaram@PChidambaram_IN

 · 5 घंटे

@PChidambaram_IN को जवाब दिया जा रहा है

Making crop insurance voluntary for loanee farmers is another retrograde step.

P. Chidambaram@PChidambaram_IN

What is required is to bring more cropped area under crop insurance. The new decisions will reduce the coverage putting millions of farmers at risk.

336

10:30 am - 20 फ़र॰ 2020

Twitter Ads की जानकारी और गोपनीयता

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement