ब्रिटिश सांसद को एयरपोर्ट से वापस भेजने पर सरकार ने दी सफाई, कहा- उनका वीजा वैध नहीं था

img

नई दिल्ली, मंगलवार, 18 फ़रवरी 2020। ब्रिटेन के लेबर पार्टी की सदस्य और कश्मीर पर ऑल पार्टी संसदीय समूह की अध्यक्ष डेबी अब्राहम्स को दिल्ली एयरपोर्ट पर रोकने और वापस दुबई भेजने पर ब्रिटेन में भारत के राजदूत ने कहा कि दूतावास ने भारतीय आव्रजन अधिकारियों से पुष्टि की है कि ब्रिटिश सांसद डेबी अब्राहम्स के पास वैध वीजा नहीं था। इसके अलावा, ब्रिटेन के नागरिकों के लिए आगमन पर वीजा का कोई प्रावधान नहीं है। उसके अनुसार वापस लौटने का अनुरोध किया गया था।

मीडिया में आ रही खबरों को लेकर सरकारी सूत्रों ने बताया कि सच्चाई यह है कि वीजा या इलेक्ट्रॉनिक यात्रा प्राधिकरण को मंजूरी देने,अस्वीकृत और भंग करने का किसी भी देश का संप्रभु अधिकार है। डेबी अब्राहम्स को 7 अक्टूबर 2019 को ई-बिजनेस वीजा जारी किया गया था, जो व्यापार से संबंधित बैठकों में भाग लेने के लिए 5 अक्टूबर 2020 तक वैध है। उनके ई-बिजनेस वीजा को 14 फरवरी 2020 को भारत की राष्ट्रीय गतिविधियों के खिलाफ शामिल होने के कारण निरस्त कर दिया गया था। 

ANI@ANI

Government sources: Debbie Abrahams was issued an e-Business Visa on 7th October 2019, valid till 5 Oct 2020 to attend business meetings .Her e-Business Visa was revoked on 14 February 2020 on account of her indulging in activities which went against India's national interest. https://twitter.com/ANI/status/1229683487029915649 …

ANI@ANI

Government Sources: In response to media reports on return of British MP Debbie Abrahams, to UK from India, the facts are- grant, rejection, revocation of visa / electronic travel authorisation is the sovereign right of any country.

454

1:59 PM - Feb 18, 2020

Twitter Ads info and privacy

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement