चम्बल में पानी की आवक से प्रभावित परिवारों को मिली17.25 करोड़ रुपये की सहायता राशि

img

  • सरकार दुख की घड़ी में आम आदमी के साथ- स्वायत्त शासन मंत्री

जयपुर। चम्बल नदी में पानी की अधिक आवक से अपना आशियाना उजड़ जाने से प्रभावित हजारों परिवारों के लिए सोमवार का दिन नया सवेरा लेकर आया जब स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने राज्य सरकार द्वारा देय सहायता राशि के प्रतिकात्मक चैक प्रभावित परिवारों के मुखिया को प्रदान किये। चम्बल के पानी से प्रभावित 4 हजार 489 परिवारों को 17 करोड़ 25 लाख से अधिक राशि सीधे बैंक खातों में पहुंची। कोटा जिले  के कलक्ट्रेट स्थित टैगोर सभागार में  सोमवार को आयोजित चैक वितरण कार्यक्रम में स्वायत्त शासन मंत्री ने कहा कि सरकार आम नागरिकों के दुख:दर्द की घड़ी मेें हमेशा साथ खडी है।

प्रदेश में पहलीबार बाढ़ प्रभावित परिवारों को बिना केन्द्र की सहायता के इतनी बड़ी सहायता राशि त्वरित रूप से प्रदान कि जा रही है। उन्होंने कहा कि 1960 में चम्बल नदी पर चारों बांधों का निर्माण किया गया था जबसे लेकर इतनी मात्रा में पानी की निकासी नहीं की गई थी। पहली बार इतनी बड़ी संख्या में नागरिक प्रभावित हुए लेकिन सरकार ने जिला प्रशासन के माध्यम से त्वरित सहायता उपलब्ध करवाकर आम जन को राहत एवं पुर्नवास का कार्य किया गया। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा प्रभावित परिवारों को सहायता उपलब्ध कराने के लिए पूरी पारदर्शिता के साथ कार्य किया गया। तीन बार टीमों का गठन कर प्रत्येक प्रभावित परिवार तक पहुंचने के प्रयास किये गए। उन्होंने कहा कि यदि किसी प्रभावित परिवार का नाम सर्वे सूची में छूट गया तो उसके लिए भी सरकार हमेशा मदद के लिए तैयार है।  

उन्होंने प्रतिकात्मक रूप से 25 परिवारों को क्षतिग्रस्त आवास की सहायता राशि के चेक प्रदान किये। उन्होंने प्रभावित परविारों से रूबरू होते हुए कहा कि उन्हें हर संभव पूरी मदद प्रदान की जायेगी। सरकार द्वारा देय सहायता राशि का वे सदुपयोग कर क्षतिग्रस्त आवासों की मरम्मत करवाकर अपना नया जीवन शुरू करें।  कोटा जिला कलक्टर ओम कसेरा ने कहा कि सभी प्रभावित परिवारों को त्वरित सहायता देकर प्रशासन हमेशा सहयोग के लिए तैयार रहेगा। उन्होंने कहा कि पीडि़त परिवारों को मूलभूत सुविधाओं के लिए पूर्व में सहायता उपलब्ध कराई जा चुकी है। अब आवास मरम्मत के लिए सीधे बैंक खातों में राशि उपलब्ध कराई जा रही है। इस अवसर पर नगर निगम के प्रशासक वासुदेव मालावत, अतिरिक्त कलक्टर सीलिंग सत्यनारायण अमेठा यूआईटी के पूर्व अध्यक्ष रविन्द्र त्यागी, जफर मोहम्मद, राजेन्द्र सांखला सहित बड़ी संख्या में प्रभावित परिवार उपस्थित रहे।

4 हजार 489 परिवार हुए लाभान्वित
स्वायत्त शासन मंत्री ने 25 परिवारों को प्रतिकात्मक रूप से चेक प्रदान किये। चंबल में पानी की अधिक आवक से प्रभावित परिवारों के सर्वे में 4 हजार 837 परिवारों का सर्वे किया गया। जिसमें 1456 परिवारों के पक्के मकान पूर्ण क्षतिग्रस्त पाये गये। 222 परिवारों के कच्चे मकान पूर्ण क्षतिग्रस्त पाये गय। 4 परिवारों के अत्यधिक क्षतिग्रस्त कच्चे मकान पाये गये। 33155 परिवारों के आंशिक क्षतिग्रसत कच्चे, पक्के मकान पाये गये। जिला प्रशासन द्वारा किये गये सर्वे के बाद 4489 परिवार भुगतान योग्य पाये गये जिन्हें 17 करोड़ 25 लाख 46 हजार 620 रुपये का भुगतान सीधे बैंक खातों में किया गया। 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement