गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में बच्चों का किया गया गलत इलाज, सेवारत न्यायाधीश करें जांच- अखिलेश

img

लखनऊ, सोमवार, 06 जनवरी 2020। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश के गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में पिछले एक साल में इंसेफेलाइटिस (दिमागी बुखार) से पीड़ित बच्चों का गलत इलाज किए जाने का आरोप लगाते हुए इसकी किसी सेवारत न्यायाधीश से जांच कराने की मांग की है।  अखिलेश ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में जनवरी 2019 से अक्टूबर 2019 तक तकरीबन 1800 बच्चों की खून की जांच से पता लगा कि वे दिमागी बुखार से पीड़ित हैं लेकिन ‘‘सरकार ने आंकड़े ठीक रखने के लिए’’ इस संख्या को मात्र 500 ही बताया। उन्होंने कहा कि सरकार की मंशा के मुताबिक मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों ने इन बच्चों का इंसेफेलाइटिस के बजाए किसी अन्य बीमारी का नाम देकर गलत इलाज किया। उन्होंने कहा कि जहां तक उन्हें जानकारी है, मेडिकल कॉलेज में पिछले साल जनवरी से अक्टूबर तक करीब 1500 बच्चे मर चुके हैं। 

अखिलेश ने कहा कि सपा की मांग है कि इस अमानवीय हरकत की उच्च न्यायालय या उच्चतम न्यायालय के किसी किसी सेवारत न्यायधीश की अगुवाई में डॉक्टरों के एक पैनल से जांच कराई जाए। उन्होंने इस मौके पर इन बच्चों के खून की कथित जांच रिपोर्ट भी पेश की और कहा कि इस जांच से पता लग जाता है कि किस बच्चे को दिमागी बुखार है और किसे नहीं। इसी रिपोर्ट के आधार पर वह यह दावा कर रहे हैं।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement