IPS दारापुरी और सदफ जफर की गिरफ्तारी को लेकर बोले चिदम्बरम, कहा- शर्मनाक

img

नई दिल्ली, रविवार, 05 जनवरी 2020। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने रविवार को कहा कि सदफ जफर, एस आर दारापुरी और पवन राव को हिंसा के मामले में उनके खिलाफ बिना किसी सबूत के गिरफ्तार किया जाना ‘‘शर्मनाक’’ है। चिदंबरम ने कहा कि पुलिस ने चौंकाने वाली स्वीकारोक्ति की है कि उनकी संलिप्तता का कोई साक्ष्य नहीं है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘सदफ जफर, एस आर दारापुरी और पवन राव आम्बेडकर को पुलिस की इस स्वीकारोक्ति के बाद जमानत पर रिहा कर दिया गया कि हिंसा में उनकी संलिप्तता का कोई सबूत नहीं है। यह चौंका देने वाली स्वीकारोक्ति है।’’

P. Chidambaram@PChidambaram_IN

 · 6 घंटे

Sadaf Jafar, S R Darapuri and Pavan Rao Ambedkar released on bail after police ADMITTED no evidence of their involvement in violence. Shocking admission.

P. Chidambaram@PChidambaram_IN

If that were so, why did the police arrest them in the first place?

And how did the Magistrate remand them to custody without looking at the evidence?

The law says 'find evidence, then arrest'. The reality is 'first arrest, then search for evidence'. Shameful.

1,556

8:42 am - 5 जन॰ 2020

Twitter Ads की जानकारी और गोपनीयता

P. Chidambaram@PChidambaram_IN

Sadaf Jafar, S R Darapuri and Pavan Rao Ambedkar released on bail after police ADMITTED no evidence of their involvement in violence. Shocking admission.

3,686

8:41 am - 5 जन॰ 2020

Twitter Ads की जानकारी और गोपनीयता

चिदंबरम ने कहा, ‘‘यदि ऐसा था, तो पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार ही क्यों किया? और मजिस्ट्रेट ने सबूत देखे बिना उन्हें हिरासत में कैसे भेज दिया?’’ उन्होंने कहा, ‘‘कानून कहता है कि ‘पहले सबूत, बाद में गिरफ्तारी’ लेकिन हकीकत में ‘पहले गिरफ्तार करो, बाद में सबूत ढूंढो’ है। शर्मनाक।’’

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement