प्रियंका गांधी की सुरक्षा में कोई चूक नहीं, उन्होंने तोड़े थे नियम- CRPF

img

लखनऊ, सोमवार, 30 दिसम्बर 2019। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल ने सोमवार को कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ लखनऊ में हुई कथित बदसलूकी के मामले में रिपोर्ट सौंप दी है। सीआरपीएफ ने प्रियंका पर ही सुरक्षा नियमों की अनदेखी का आरोप लगाने के साथ उन्हें नियमों का पालन करने की हिदायत दी है।  आईजी इंटेलिजेंस पीके सिंह ने रिपोर्ट में कहा है कि 28 दिसंबर को प्रियंका गांधी का केवल एक प्रोग्राम बताया गया था, जिसके तहत उन्हें कांग्रेस स्थापना दिवस के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी ऑफिस में जाना था। उसी दिन सुबह करीब 8 बजे हजरतगंज के सीओ, प्रियंका के रुकने के स्थान पर पहुंचे और उनके पूरे कार्यक्रम की जानकारी मांगी। प्रियंका के निजी स्टाफ ने उन्हें इसकी जानकारी नहीं दी। 

प्रियंका की सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई थी। उन्होंने तयशुदा कार्यक्रम के हिसाब से यात्रा नहीं की और बुलेटप्रूफ गाड़ी का भी प्रयोग नहीं किया, जो नियमों की अनदेखी है। वे असुरक्षित तरीके से टूव्हीलर पर सवार हुईं। वे अपने साथ निजी सुरक्षा अधिकारी को भी नहीं ले गईं। इन सबके बावजूद हमने उचित सुरक्षा दी। सीआरपीएफ ने उन्हें नियमों का पालन करने की सलाह दी है।  उल्लेखनीय है कि प्रियंका 28 दिसंबर को पार्टी के स्थापना दिवस कार्यक्रम के बाद कार्यालय से गुपचुप निकल कर कुछ पदाधिकारियों के साथ नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में गिरफ्तार किए गए रिटायर्ड आइपीएस अधिकारी एसआर दारापुरी के घर जा रही थीं। पुलिस ने रास्ते में उनकी गाड़ी रोक दी। इसके बाद वे राजस्थान के जहाजपुर से विधायक धीरज गुर्जर की स्कूटी पर बैठकर गई थीं।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement