UP हिंसा को लेकर मानवाधिकार आयोग ने उत्तर प्रदेश के डीजीपी को भेजा नोटिस

img

लखनऊ, बुधवार, 25 दिसम्बर 2019। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने उत्तर प्रदेश के डीजीपी को यूपी में हुई हिंसा को लेकर नोटिस दिया है। चार सप्ताह में इसका जवाब देने के लिए कहा गया है। आपको बताते जाए कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हुई हिंसा में 15 लोग मारे गए हैं।  दूसरी ओर लखनऊ प्रशासन ने हिंसा में शामिल लोगों की पहचान कर उन्हें नोटिस भेजना शुरू कर दिया है। अभी तक 82 लोगों को नोटिस भेज दिया गया है। इन सभी लोगों को अदालत में हाजिर होकर यह बताना होगा कि आखिर हिंसा में पहचाने जाने के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की जाए। प्रशासन की ओर से यह नोटिस लखनऊ में हुए नुकसान की भरपाई के लिए भेजा गया है। नोटिस उन लोगों को भेजा गया है जिनको इस घटना के दौरान नुकसान हुई संपत्ति का जिम्मेदार माना गया है।

लखनऊ में हुई गिरफ्तारी पर डीजीपी मुख्यालय ने सोमवार को आंकड़े जारी कर दिए हैं। सीएए के खिलाफ प्रदर्शन, तोड़फोड़ और आगजनी में 10 दिसंबर से अब तक की कार्रवाई में पूरे प्रदेश में अब तक कुल 213 एफआईआर दर्ज की गई जबकि 925 आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं। साथ ही 5558 लोगों के खिलाफ निषेधात्मक कार्रवाई की गई है। सोशल मीडिया में आपत्तिजनक पोस्ट डालने के मामलों में 81 एफआईआर दर्ज कर दी गई है। 120 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।  पुलिस के अनुसार, हिंसा में कुल 288 पुलिसकर्मी भी घायल हो गए हैं, इनमें 61 लोगों को हथियार से चोटें आई हैं। पुलिस को कुल 646 अवैध हथियारों के खाली खोखे बरामद किए गए हैं।

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement